NDTV Khabar

शिवसेना का बीजेपी पर हमला, कहा - लोग 'अच्छे दिनों' की राह देख रहे हैं

मुख्यपत्र सामना में लिखा गया, "तीन साल से मंत्रिमंडल में प्रयोग जारी हैं. लोग अब भी अच्छे दिनों के चमत्कार की राह देख रहे हैं.

1.9K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवसेना का बीजेपी पर हमला, कहा - लोग 'अच्छे दिनों' की राह देख रहे हैं

मोदी मंत्रिमंडल में हुए फेरबदल को लेकर सामना में बीजेपी पर करारा हमला..

खास बातें

  1. शिवसेना ने कहा - सरकारी अस्पतालों में मौतें ख़त्म नहीं हो रहीं
  2. बिहार, असम, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, जैसे राज्यों में बाढ़ की तबाही
  3. किस मंत्रालय ने कौन सी समस्या हल कर दी?"
नई दिल्ली: मोदी सरकार के नए मंत्री अपने-अपने महकमों का कामकाज संभाल रहे हैं. सोमवार को ज़्यादातर केंद्रीय मंत्रियों ने नया पदभार संभाल लिया. लेकिन बीजेपी के सहयोगी दल इस फेरबदल में अपनी अनदेखी से मायूस हैं. मोदी मंत्रिमंडल के पूरे कामकाज पर सहयोगी शिवसेना ने तीखा हमला किया. मुख्यपत्र सामना में लिखा गया, "मोदी सरकार ने तीन साल पूरे कर लिए लेकिन मंत्रिमंडल में प्रयोग अब भी जारी हैं. लोग अब भी अच्छे दिनों के चमत्कार की राह देख रहे हैं. बिहार, असम, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, जैसे राज्यों में बाढ़ की तबाही है और सरकारी अस्पतालों में मौतें ख़त्म नहीं हो रहीं. किस मंत्रालय ने कौन सी समस्या हल कर दी?"

ये उम्मीद जेडीयू को भी थी कि उसे फेरबदल में जगह मिलेगी. रविवार को जेडीयू महासचिव ने ये उम्मीद जता भी दी थी जब उन्होंने NDTV से कहा था, "नीतिश सरकार में बीजेपी की सम्मानजनक हिस्सेदारी के बाद बिहार के लोगों को उम्मीद थी कि जेडी-यू के प्रतिनिधि भी मोदी सरकार में शामिल होंगे, लेकिन ये विस्तार सिर्फ बीजेपी तक ही सीमित रहा".

हालांकि सोमवार को नीतीश कुमार ने खट्टे अंगूर कौन खाए के अंदाज़ में इसे ग़लत बताया. नीतिश ने पटना में कहा, "इसकी (मोदी सरकार में शामिल होने की) कोई बात ही नहीं थी. ये अपने आप से बात चली जिसका कोई आधार ही नहीं है".  

ये भी पढ़ें: कैबिनेट फेरबदल: उद्धव ठाकरे ने कहा, बीजेपी से हमारी कोई बातचीत नहीं, हम सत्ता के भूखे नहीं

इस फेरबदल की वजह से कम से कम अपने सबसे पुराने और सबसे नए दो सहयोगियों के साथ बीजेपी के रिश्ते बदल गए हैं- ये दिख रहा है. अब प्रधानमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष की चुनौती इन दलों को समझाबुझा कर अपने साथ बनाए रखने की होगी.

यह भी पढ़ें: नाराज शिवसेना ने कहा - NDA मर रहा है, वक्त आने पर सही रुख अपनाएंगे

इन सबके बीच साफ़-सफ़ाई भी जारी है और कर्मकांड भी. सोमवार को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री बनाए गए अश्विनी चौबे ने निर्माण भवन में स्वास्थ्य मंत्रालय में अपने नए दफ्तर में पहुंचते ही सबसे पहले भगवान की ही नहीं, कुर्सी-टेबल दफ़्तर सबकी पूजा की. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement