NDTV Khabar

लालू यादव पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बिहार में सियासी तूफ़ान, बीजेपी ने नीतीश से रुख साफ करने को कहा

बिहार की राजनीति में बढ़ती सुगबुगाहट के बीच लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष पासवान ने नीतीश कुमार के इस्तीफे तक की मांग कर दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू यादव पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बिहार में सियासी तूफ़ान, बीजेपी ने नीतीश से रुख साफ करने को कहा

लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

चारा घोटाले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बिहार की राजनीति में हलचल तेज़ हो गयी है. एनडीए के नेताओं ने सबसे ज़्यादा हमला बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार पर साधा और मांग की कि नीतीश इस मसले पर अपना रुख साफ करें कि वो सत्ता में बने रहने के लिए भ्रष्टाचार के साथ कब तक समझौता करते रहेंगे. बिहार बीजेपी के नेता सुशील मोदी ने आरोप लगाया कि कोर्ट के फैसले से बिहार में सत्ताधारी गठबंधन में लालू यादव की स्थिति कमज़ोर होगी. उन्होंने कहा, "नीतीश कुमार कमज़ोर लालू यादव को पसंद करेंगे. नीतीश चाहेंगे कि लालू यादव पर मुकदमा चले... इससे सरकार चलाना उनके लिए आसान होगा." हालांकि सुशील मोदी ने साथ ही ये भी कहा, "लालू यादव को छोड़कर नीतीश कुमार बीजेपी के साथ आज नहीं जाएंगे. भविष्य में क्या होगा इसकी भविष्यवाणी कोई नहीं कर सकता...देखिये अगर कल नीतीश कोई निर्णय करते हैं तो बीजेपी का केन्दीय नेतृत्व इन चीज़ों पर विचार करेगा."

दरअसल लालू यादव के खिलाफ चारा घोटाले में आपराधिक साज़िश का मुकदमा चलाने के सुप्रीम कोर्ट के निर्देश ने बिहार की राजनीति में हलचल पैदा कर दी है. दिल्ली में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के निशाने पर भी नीतीश कुमार ही रहे. रविशंकर प्रसाद ने कहा, "नीतीश कुमार बताएं कि वो अब कहां खड़े हैं...वो सत्ता में बने रहने के लिए कहां तक समझौता करेंगे...और कब तक खामोश रहेंगे?"


टिप्पणियां

बिहार की राजनीति में बढ़ती सुगबुगाहट के बीच लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष पासवान ने नीतीश कुमार के इस्तीफे तक की मांग कर दी. रामविलास पासवान ने एनडीटीवी से कहा, "नीतीश साफ करें कि वो एनडीए के साथ जाना चाहते हैं...इस्तीफा देना चाहते हैं...या लालू के साथ बने रहना चाहते हैं." पासवान ने मांग की कि नीतीश पहले ये तय करें कि वो एनडीए के साथ जाना चाहते हैं, इस्तीफा देना चाहते हैं या फिर लालू यादव के साथ.

चारा घोटाले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद लालू यादव के साथ संबंधों को लेकर नीतीश कुमार पर दबाव बढ़ने लगा है. हालांकि ये भी सही है कि कोर्ट के फैसले के बाद बिहार में गठबंधन सरकार में लालू का कद घटेगा... ऐसे में अब नीतीश को ये तय करना होगा कि लालू के साथ गठबंधन में बने रहने से उन्हें फायदा ज्यादा होगा या नुकसान.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement