NDRF के महानिदेशक बोले, 'कोरोना वायरस और तूफान अम्‍फान भारत के लिए दोहरी चुनौती'

एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने कहा, 'हमने पश्चिम बंगाल और ओडिशा प्रशासन को एडवाइजरी दी है कि जो भी साइक्लोन शेल्टर हैं, वहां सोशल डिस्टेंसिंग को लागू करना जरूरी होगा.

NDRF के महानिदेशक बोले, 'कोरोना वायरस और तूफान अम्‍फान भारत के लिए दोहरी चुनौती'

NDRF ने कोरोनााकी आपदा के बीच तूफान 'अम्‍फान' से निपटने को दोहरी चुनौती माना है

नई दिल्ली:

चक्रवाती तूफान 'अम्‍फान' (Super Cyclone Amphan) ने कोरोना वायरस की महामारी (Coronavirus Pandemic) से जूझ रहे देश की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. 'अम्फान' (Amphan) भारत के ओडिशा और पश्चिम बंगाल में तबाही ला सकता है. मौसम विभाग का अनुमान है कि 20 मई को ‘अम्फान' बेहद भीषण चक्रवाती तूफान के रूप में पश्चिम बंगाल में दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के बीच पश्चिम बंगाल- बांग्लादेश के तटों से गुजरेगा. नेशनल डिजास्‍टर रिस्‍पांस फोर्स यानी NDRF के महानिदेशक एसएन प्रधान (SN Pradhan) ने कोरोना वायरस की महामारी के बीच 'अम्फान' से निपटने को दोहरी चुनौती बताया है. एनडीटीवी से बातचीत में प्रधान ने कहा, 'हमने पश्चिम बंगाल और ओडिशा प्रशासन को एडवाइजरी दी है कि जो भी साइक्लोन शेल्टर हैं, वहां सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) को लागू करना जरूरी होगा. सोशल डिस्‍टेंसिंग को ध्‍यान में रखते हुए यदि अम्‍फान से बचाव के लिए स्‍थापित शेल्‍टर होम में हजार लोगों के रहने की क्षमता है तो वहां 500 लोगों को रखना ही बेहतर होगा. 

उन्‍होंने कहा, राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन कमेटी ने तय किया है कि सेनिटाइजेशन और सभी तरह की ऐहतियात के साथ स्‍कूल और कॉलेज का इस्‍तेमाल समुद्री चक्रवात से प्रभावित होने वाले जिलों में आम लोगों को सुरक्षित रखने के लिए किया जाए. गौरतलब है कि अम्‍फान के खतरे के मद्देनजर एनडीआरएफ ने पश्चिम बंगाल में 21 टीमें तैनात की हैं जबकि 2 से 3 टीमों को स्टैंडबाई पर रखा गया है. इसी क्रम में ओडिशा में एनडीआरएफ की 15 टीमें तैनात की गई हैं और 5 टीमों को स्टैंडबाई पर रखा गया है.  समुद्री तूफान के चलते पश्चिम बंगाल के ईस्ट मिदनापुर जिले के दीघा इलाके में जहां लैंडफॉल का पूर्वानुमान है, वहां से राजधानी कोलकाता ज्यादा दूर नहीं है. अगर लैंडफॉल के दौरान कोलकाता में 100 किलोमीटर के आसपास भी तेज हवाएं चलती हैं तो साइक्लोन बुलबुल की तर्ज पर ऐहतियात बरतना जरूरी होगा और लोगों को घरों में रहना होगा.

गौरतलब है कि अम्फान' पश्चिम बंगाल के कोलकाता, पूर्वी मिदनापुर, उत्तर-दक्षिण 24 परगना, हावड़ा, हुगली कोलकाता जिले से होकर गुजरेगा. यहां पर कच्चे घर, पुराने पक्के घर, रेल पटरियां, सड़क, फसल, जहाज, नौकाओं, बिजली के खंबे और तारों को यह भारी नुकसान पहुंचा सकता है. इसी तरह ओडिशा में यह तटीय शहर जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, बालासोर, जाजपुर, मयूरभंज इलाके से गुजरेगा. मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल के लिए ‘‘ऑरेंज” अलर्ट जारी किया है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com