NDTV Khabar

NDTV Exclusive: महाराष्ट्र में गंभीर सूखे के आसार, सेंट्रल वाटर कमीशन ने चेताया

सेंट्रल वाटर कमीशन के चेयरमैन एस मसूद हुसैन ने कहा कि NDTV से कहा, महाराष्ट्र में हालात चिंताजनक, जलस्तर नीचे गिरा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NDTV Exclusive: महाराष्ट्र में गंभीर सूखे के आसार, सेंट्रल वाटर कमीशन ने चेताया

वाटर कमीशन के चेयरमैन एस मसूद हुसैन ने महाराष्ट्र और अन्य कुछ राज्यों में भीषण जल संकट के हालात बनने की बात कही है.

खास बातें

  1. तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, गुजरात और उत्तर प्रदेश में भी पानी का संकट
  2. सबसे ज्यादा चिंताजनक हालात महाराष्ट्र के मराठवाड़ा जैसे इलाकों के
  3. महाराष्ट्र के 17 बड़े जलाशयों में से पांच में पानी इस्तेमाल के लायक नहीं
नई दिल्ली:

मानसून के आने में पांच दिन की देरी के पूर्वानुमान के बीच सेन्ट्रल वाटर कमीशन ने सूखे से जूझ रही महाराष्ट्र सरकार को एडवाइजरी जारी कर दी है. एनडीटीवी से एक्सक्लूसिव बातचीत में कमीशन के चेयरमैन एस मसूद हुसैन ने कहा कि महाराष्ट्र में हालात चिंताजनक हैं.

मसूद हुसैन ने कहा, "हमने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि उनके बड़े जलाशयों में पानी का स्तर काफी नीचे गिर चुका है. ऐसे में उन्हें जलाशयों में बचे पानी का इस्तेमाल काफी सोच समझकर करना होगा. प्राथमिकता पीने के पानी को देना होगी. इसके बाद ही सिंचाई के लिए पानी जारी करना उचित होगा.  

मौसम का पूर्वानुमान : देरी से दस्तक देगा मानसून, औसत से कम होगी बारिश; सूखे का संकट


एडवाइजरी चार अन्य राज्यों तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, गुजरात और उत्तर प्रदेश को भी जारी की गई है. लेकिन सबसे ज़्यादा चिंता महाराष्ट्र के मराठवाड़ा जैसे इलाके को लेकर है जहां पानी का संकट बढ़ता जा रहा है.

गर्मी के साथ बढ़ता पानी संकट, देश के 91 बड़े जलाशयों में औसत से कम बचा है पानी

महाराष्ट्र के 17 बड़े जलाशयों में से पांच में पानी इस्तेमाल के लायक नहीं बचा है. जबकि पांच बड़े जलाशयों में पानी 10 प्रतिशत से भी कम बचा है. चिंता पूरे पश्चिमी भारत के जलाशयों में पानी के घटते स्तर को लेकर है. यहां के 27 बड़े जलाशयों में पानी का स्तर उनकी क्षमता का सिर्फ 13 फीसदी रह गया है.

VIDEO : गर्मी बढ़ते ही देश में गहराया पानी का संकट

टिप्पणियां

साफ है, हालात खराब हो रहे हैं...और सरकार को इस मामले में जल्द ही कुछ करना होगा.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement