NDTV पड़ताल : नाम की पार्टियां, चुनाव आयोग में दिए गए पतों पर नहीं हैं दफ्तर

NDTV पड़ताल : नाम की पार्टियां, चुनाव आयोग में दिए गए पतों पर नहीं हैं दफ्तर

चुनाव आयोग फर्जी पार्टियों पर नकेल कसने की तैयारी में है...

नई दिल्ली:

देश में कई हजार राजनीतिक दल हैं और सिर्फ दिल्ली में ही 245 राजनीतिक दलों के पते रजिस्टर्ड हैं. इनमें से 67 का पता चुनाव आयोग भी नहीं लगा सका. इनमें 20 से भी कम पार्टियां हैं जिन्होंने अपनी आय का कोई ब्योरा दिया है.

अब दिल्ली चुनाव आयोग अगले 10 दिन में एक और सूची तैयार करने जा रहा है. ऐसे संदिग्ध दलों के नाम चुनाव आयोग को भेजे जाएंगे. एनडीटीवी में हमारे सहयोगी सिद्धार्थ पांडेय ने देखने की कोशिश की कि ये पार्टियां आख़िर कहां हैं.

एक पार्टी का दरफ्तार 4, UF, बाबर प्लेस, बंगाली मार्केट नई दिल्ली है. इस पते पर आम आदमी मुक्ति पार्टी का दफ़्तर है.
अपनी आय के ब्यौरा न देने की वजह से ये पार्टी चुनाव आयोग के रडार पर है.

जब इस पार्टी द्वारा दिए गए पते पर हमारे संवाददाता पहुंचे तो यह हाल मिला. वहां पर एक रोहित नाम का युवा निकलकर बाहर आया. जब उससे पार्टी के दफ्तर के बारे में पूछा गया तो उसका कहना था कि यहां कोई पार्टी नहीं है. उसने बताया कि पिछले 15 सालों से उसका परिवार यहां पर रह रहा है.

दूसरा पता, भारत विकास पार्टी, मुनीरिका का है. पार्टी ने ए/6ए, डीडीए फ्लैट, मुनीरका, नई दिल्ली पता चुनाव आयोग में दर्ज कराया है. मुनीरिका के इस घर में बताया गया कि पार्टी बनी तो थी, मगर 13 साल पहले, लेकिन इसने कभी चुनाव नहीं लड़ा. अब इसका पता बदल कर द्वारका का हो चुका है. इसने भी पिछले पांच साल में आय के ब्योरे नहीं दिए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अब एक अन्य पार्टी है, भारतीय चैतन्य पार्टी. इसका पता बी-97, पंचशील विहार, शेख सराय, नई दिल्ली है. चुनाव आयोग को भी शेख सराय के पंचशील विहार में इस भारतीय चैतन्य पार्टी का पता नहीं चल पाया. कई साल से इस पार्टी ने न आय के ब्योरे दिए हैं, न ये चुनाव लड़ी है.

जिन दस पार्टियों के पते पर हम गए, उनमें 6 का हमें कुछ पता नहीं चला. चुनाव आयोग भी 245 में 67 पार्टियों का पता खोज नहीं सका. इनमें से 20 से भी कम पार्टियां हैं जिन्होंने अपनी आय के ब्योरे दिए हैं. चुनाव आयोग को शक है कि इनमें से कई पार्टियां काले धन को सफेद करने का काम न कर रही हों.