NDTV Khabar

एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव में कांग्रेस की लोकसभा सांसद सुष्मिता देव ने कहा, राजनीति मेरा पेशा नहीं

एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018 के दूसरे सत्र में अंकिव बसोया, कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव, राष्ट्रीय लोकदल के नेता जयंत चौधरी, आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा तथा आरएसएस के सदस्य राघव अवस्थी शामिल हुए. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव में कांग्रेस की लोकसभा सांसद सुष्मिता देव ने कहा, राजनीति मेरा पेशा नहीं

एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018 के दूसरे सत्र में कांग्रेस की लोकसभा सांसद सुष्मिता देव

नई दिल्ली: एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018 के दूसरे सत्र में निधि कुलपति ने 2019 की नई पीढ़ी की बातचीत की. इसमें दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ के नवनिर्वाचित अध्यक्ष अंकिव बसोया, कांग्रेस की लोकसभा सांसद सुष्मिता देव, राष्ट्रीय लोकदल के पूर्व सांसद जयंत चौधरी, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य राघव चड्ढा तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य व अधिवक्ता राघव अवस्थी शामिल हुए. 

NDTV युवा में अखिलेश यादव बोले, 2019 के चुनाव में BJP से ज़्यादा लड़ाई RSS से

कांग्रेस की लोकसभा सांसद सुष्मिता देव ने कहा कि अगर आज हमसे कोई पूछे कि आपका पेशा क्या है तो मैं कहूंगी वकालत. ये बात सही है कि राजनीति में आने के बाद मुझे वकालत करने का समय नहीं मिलता. राजनीति में लोगों की समस्या से आपका वक्त जुड़ा है. अगर आपकी जरूरत एक जनप्रतिनिधि के हिसाब से आपकी जरूरत रात के बारह बजे है तो आपको उस वक्त भी जाना होगा. राजनीति को कभी भी पेशे की तरह देखेंगे तो उसमें डाउन फॉल आएगा. अगर आप ये सोचेंगे कि  राजनीति से अगर आपको भोजन मिल जाएगा तो आप किसी भी हद तक जा सकते हैं. उन्‍होंने कहा कि जब कोई मंदिर में जाता है तो वहां के लोगों की डिमांड होती है. ऐसा नहीं है कि हम ये तय करते हैं. राहुल गांधी की यह नीति नहीं कि मैं यहां जाऊंगा और यहां नहीं. हां, बस चर्चा जरूर होती है. लोगों की डिमांड पर ही कोई मंदिर में जाता है.

देखें तस्वीरें : ‘Gen Next On 2019' पर निधि कुलपति और युवा पैनेलिस्ट के बीच चर्चा...

राष्ट्रीय लोकदल के पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने कहा कि सोशल मीडिया में ट्विटर पर एक फौज खड़ी हो गई है. बहुत से लोग इसका सही इस्तेमाल करते हैं तो कोई गलत. पहले वायरल शब्द बुखार होता था, मगर आज हर युवा बोलता है वायरल होना. समय बदल रहा है. हमें युवाओं में नैतिक तंत्र विकसित करने की जरूरत है. जयंत ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के परिणाम से उम्मीद जगी है. आदमी हारने से ज्यादा सीखता है. कैराना की जीत से हमने यह साबित किया कि यहां के लोग सांप्रदायिक नहीं हैं. हाथरस में दलित की बारात मामले पर जयंत ने कहा कि यह बहुत बड़ा कलंक है. वहां के स्थानीय प्रशासन ने हाईकोर्ट में जाकर दलील दी कि हम सुरक्षा नहीं दे सकते. हालांकि, बुनियादी ढांचा बदल रहा है, मगर अभी भी चीजें मौजूद हैं. मोहल्‍ले का मोहल्‍ला अभी भी बंटा हुआ है. 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सदस्य व अधिवक्ता राघव अवस्थी ने कहा कि संघ का काम को-ऑर्डिनेशन का होता है. संघ का काम सिर्फ अनुशांगिक संगठनों में सामंजस्य का काम करता है. संघ सरकार में दखल नहीं, बल्कि सबके बीच सहयोग का काम करता है. राजस्थान में शंभू लाल रैगर के मामले पर राघव अवस्‍थी ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि 2014 में ऐसी हिम्मत ज्यादा हुई है या नहीं. इससे पहले भी मैंने देखा है. मुझे लगता है कि मोदी की सत्ता आने के बाद मीडिया को दलित और इस तरह के मुद्दे ज्यादा दिखने लगे हैं. 

टिप्पणियां
दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय छात्र संघ के अध्‍यक्ष अंकित ने कहा कि मैं एबीवीपी का धन्यवाद करता हूं. एबीवीपी हमें एक्टिविज्म सिखाता है. मैं अपना भविष्य राजनीति में देखता हूं. युवा को पता है कि देश को किस तरह संभालना है. युवा देश का जड़ है. अगर आप स्टूडेंट एक्टिवस्ट हैं तो पढ़ाई से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता. 

VIDEO: राघव अवस्थी ने कहा, कांग्रेस वंशवाद में पूरी तरह लिप्त 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement