NDTV Khabar

NDTV युवा में अखिलेश यादव बोले, 2019 के चुनाव में BJP से ज़्यादा लड़ाई RSS से

एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018 के कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा. इस कार्यक्रम के दौरान राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (RSS) को देश से बचाना होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NDTV युवा में अखिलेश यादव बोले, 2019 के चुनाव में BJP से ज़्यादा लड़ाई RSS से

एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018 में सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव

नई दिल्ली: एनडीटीवी स्पेशल यूथ कॉन्क्लेव 2018 के कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा. इस कार्यक्रम के दौरान राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (RSS) को देश से बचाना होगा. उन्‍होंने कहा कि केवल हमारी पार्टी नहीं, बल्कि देश को बचाने के लिए आरएसएस से दूर रहना होगा और देश को आरएसएस से बचाना होगा. उन्‍होंने कहा कि RSS ने 70 साल तिरंगा नहीं लगाया और उन्‍हें पिछड़ा बनाने के लिए RSS का शुक्रिया अदा करता हूं. उन्‍होंने कहा कि RSS जाति-धर्म में खाई बनाती है. 

सवाल: क्या आप आने वाले चुनाव में आरएसएस के खिलाफ रणनीत बनाएंगे
अखिलेश: केवल हमारी पार्टी नहीं, बल्कि देश को बचाने के लिए आरएसएस से दूर रहना होगा और देश को आरएसएस से बचाना होगा. 

सवाल: क्या आपको चुनाव आयोग पर विश्वास है?
अखिलेश: पॉलिटिकल अप्रोच से ही चुनाव आयोग के पद पर लोग पहुंचते हैं. लोग कहते हैं कि वह निष्पक्ष होता है, मगर राजनीतिक व्यवस्था से गुजरात ही है. 

सवाल: आपके कार्यकर्ता संघ से क्यों नहीं लड़ पाते.
अखिलेश: आरएसएस को समाजवादी ही टक्कर देंगे. बीजेपी और आरएसएस ने यह एहसास दिलाया कि मैं बैकवॉर्ड हूं. 

देखें तस्वीरें : NDTV युवा में अखिलेश यादव बोले, 2019 के चुनाव में BJP से ज़्यादा लड़ाई RSS से

सवाल: आरएसएस की भूमिका से आपको क्या दिक्कत है,
अखिलेश: वह खाई पैदा करते हैं, वह नफरत करते हैं. उन्होंने क्यों कहा कि वह बैकवॉर्ड हैं. प्रधानमंत्री बैकवॉर्ड कागज से बने हैं, मैं जन्म से बना हूं. 

यह भी पढ़ें : शिवपाल यादव ने बनाया समाजवादी सेक्यूलर मोर्चा, सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कही यह बात... 

सवाल:  आप इन जैसों से लड़ने में आप फेल क्यों हो जाते हैं.
अखिलेश: अगर सांप्रदायिक ताकतों को हराने के लिए मुझे गठबंधन में जाना पड़ेगा तो मैं पीछे नहीं हटूंगा. मैं गठबंधन करने के बाद पीछे नहीं हटूंगा. 

सवाल: आपके परिवार में फूट की वजह क्या है?
अखिलेश: फैमिली में विवाद के दूसरे कारण हैं. एक बार मैंने पढ़ा कि मुझे अखबार में औरंगजेब लिखा गया है. इसके पीछे बड़े लोग थे. मैं जब कालाधन खोजने निकला तो वह नहीं मिला, मगर अमिर सिंह मिल गये. 

सवाल: उमर खालिद, कन्हैया कुमार, चंद्रशेखर जैसे नौजवान नेताओं की क्या भूमिका है-
अखिलेश: जो भी समाजवादी पार्टी में आने के लिए तैयार होगा, हम उन्हें स्वीकार करेंगे. हम गठबंधन के लिए हमेशा तैयार हैं. 

सवाल: आप मुस्लिम तुष्टिकरण की ओर जा रहे थे, आपने कोई मुस्लिम लीडरशिप क्यों नहीं दिया
अखिलेश यादव: समाजवादी पार्टी में हर वर्ग की लीडरशिप है. मुसलमानों का भी लीडरशिप है. 

सवाल: क्या आपको भी लगता है कि अब राजनीति के लिए मुस्लिमों से दूर रहना चाहिए
अखिलेश- अभी जो उपचुनाव हुए, उसमें सब कह रहे थे आप मुस्लिम को टिकट मत दीजिए. मगर हमने मुस्लिम को आरएलडी के उम्मीदवार के रूप में चुना और संसद भेजा. आज सोशल मीडिया पर सेंटिमेंट बीजेपी के खिलाफ है. 

सवाल: क्या आपको चुनाव आयोग में भरोसा है
अखिलेश यादव: चुनाव आयोग के सभी अधिकारी पॉलिटिकल रास्ते से आते-जाते हैं. मैं यह कहता हूं कि संस्थान में जो लोग बैठे हैं, वह निष्पक्ष हों. जब नियत साफ नहीं है तो गंगा कैसे साफ होगी. बीजेपी वाले कहते हैं कि गंगा साफ करना है. वो कहते हैं कि बंदर भगवाना है तो हनुमान चालीसा पढ़िये. मेरी सरकार ने बंदरों को भगाने के लिए टेंडर निकाला था, मैं कहता हूं कि उन पैसों का हनुमान चालीसा ही खरीद लो. 

यह भी पढ़ें : उत्तर-प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अखिलेश यादव पर साधा निशाना

- अखिलेश यादव ने कहा कि हम जमीन पर राजनीति में पीछे रह गये. हमने काम बहुत किया. पीएम मोदी ने साढ़े चार साल में एक भी काम नहीं किया, बल्कि हमारे कामों का उद्घाटन किया. 

- गठबंधन के सवाल और लखनऊ तक की राजनीति पर अखिलेश यादव ने कहा कि गठबंधन में जिम्मेदारी किस पर होगी, वह बाद में देखा जाएगा. हम गठबंधन का नेता चुनाव के बाद बनाएंगे. हमारी कोई मजबूरी नहीं है, मगर हम चाहते हैं कि बीजेपी को रोका जाए. अगर यूपी में बीजेपी को रोका जाएगा तो पूरे देश में बीजेपी रुक जाएगी. बीजेपी ने कहा था कि आमदनी दोगुनी कर देंगे, मगर उन्होंने नहीं किया. नौजवानों को नौकरियां नहीं दी. आखिर दुनिया में सब नौकरियां दे सकती हैं तो फिर ये सरकार क्यों नहीं दे सकती है. अगर आप आपस में झगड़ा कराते रहेंगे तो नौजवान कैसे नौकरियां मांगेंगे. 

- अखिलेश यादव ने कहा कि जो उत्तर प्रदेश ने रास्ता तय किया है और जिस तरीके से काम होना शुरू किया  था, वही रास्ता विकास का मॉडल है. पहले मायावती ने एक्सप्रेसवे बनाया. उसके बाद हमने बनाया. सबसे बढ़िया एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश में है. समाजवादी सरकार ने जो बेहतर मंडी बनाने का काम किया, उसे रोक दिया गया. हम किसी उद्योगपति को जमीन नहीं दे रहे  थे, बल्कि मंडियां बना रहे थे. 

- अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा का मुकालबाल समाजवादी पार्टी की विचारधारा है. चुनाव आयोग कभी पीएम मोदी को नहीं रोकता 

- अखिलेश- मुश्किल हमलोगों के साथ यही है कि हमारी दुख और परेशानी भी यही कहती है कि हमने नाटक किया. हम बर्बाद भी हो जाएंगे तो बीजेपी वाले कहेंगे कि हमने नाटक किया. हम कभी अपने आपको पिछड़ा नहीं समझता था. हमने बेहतर एक्सप्रेसवे बनाया, लैपटॉप बंटवाया. मेरी गलती है कि मैंने दिल्ली से लखनऊ बुलाकर पत्रकार को कहा कि मुझे औरंगजेब लिखने के लिए जितने पैसे मिले, मुझसे ज्यादा पैसे ले लेते इसके लिए. मेरी गलती है कि मुझे उसी वक्त औरंगजेब लिखने वाले को तलवार निकालकर खत्म कर देना चाहिए. 

यह भी पढ़ें :  अखिलेश यादव का आरोप-योगी सरकार ने किया शिक्षकों की भर्ती में बड़ा घोटाला, बदलीं गईं कापियां  

सवाल- पीएम मोदी के खिलाफ बनारस में सपा उम्मीदवार कौन होगा. 
अखिलेश- मैं अभी अपनी रणनीति नहीं बताऊंगा , मगर उस क्योटो से जो भी हमारी पार्टी से लड़ेगा वह जीत जाएगा. 

सवाल- क्या कारण है कि बीजेपी इतनी मजबूत हो गई? कांग्रेस को क्या करना चाहिए?
अखिलेश- कांग्रेस को बड़ा दिल बना कर सबसे बात करनी चाहिए और गठबंधन बनाना चाहिए. मैं कहता हूं कि कांग्रेस की जिम्मेदारी है. अगर बीजेपी का सीना बड़ा है तो कांग्रेस अपना दिल तो बड़़ा करे. जनता इस बार धर्म के मामले में नहीं फंसने वाली है. 

- अखिलेश: कांग्रेस की जिम्मेदारी है सभी दलों को साथ लेकर चले. मेरा मायवती से संपर्क है. देश मुद्दा समझे और इस बार बीजेपी सत्ता से बाहर होगी. हम तो कहते हैं कि हम पहले से ही सीबीआई क्लब में हैं. इस पर चुनाव में फर्क नहीं होगा. वोट जनता देगी, न कि सीबीआई. 

- अखिलेश यादव ने कहा कि जो प्रधानमंत्री बनना चाहता है, वह उत्तर प्रदेश जरूर आता है. अगर पीएम मोदी को दोबारा पीएम बनना है तो उन्हें दोबारा आना होगा. 

यह भी पढ़ें: बेरोजगारों से अपमानजनक व्यवहार बीजेपी सरकार की आदत : अखिलेश यादव

सवाल: क्या आपको चुनाव आयोग में भरोसा है
अखिलेश यादव: चुनाव आयोग के सभी अधिकारी पॉलिटिकल रास्ते से आते-जाते हैं. मैं यह कहता हूं कि संस्थान में जो लोग बैठे हैं, वह निष्पक्ष हों. जब नियत साफ नहीं है तो गंगा कैसे साफ होगी. बीजेपी वाले कहते हैं कि गंगा साफ करना है. वो कहते हैं कि बंदर भगवाना है तो हनुमान चालीसा पढ़िये. मेरी सरकार ने बंदरों को भगाने के लिए टेंडर निकाला था, मैं कहता हूं कि उन पैसों का हनुमान चालीसा ही खरीद लो. 

टिप्पणियां
- अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा का मुकालबाल समाजवादी पार्टी की विचारधारा है. चुनाव आयोग कभी पीएम मोदी को नहीं रोकता 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement