पर्यटन को लेकर सरकार की कोशिशों के बाद भी देश में करीब दो लाख पर्यटक होटल कमरों की कमी

देश पर्यटन में आए उछाल को बेहतर ढंग से व्यवस्थित करने को लेकर जूझ रहा है. 

पर्यटन को लेकर सरकार की कोशिशों के बाद भी देश में करीब दो लाख पर्यटक होटल कमरों की कमी

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

भारत में सरकार पर्यटन को बढ़ावा देने की पुरजोर कोशिश कर रही है, मगर हकीकत ये है कि अभी भी पर्यटकों के लिए भारत में वो सारी मूलभूत सुविधाएं नहीं है. दरअसल, पर्यटन मंत्रालय के अधिकारियों की मानें तो भारत में पर्यटकों के लिए करीब दो लाख होटल कमरों की कमी है. साथ ही देश पर्यटन में आए उछाल को बेहतर ढंग से व्यवस्थित करने को लेकर जूझ रहा है. 

अधिकारी ने यह बात 12वीं पंचवर्षीय योजना (2012 से 2017) के लिए पर्यटन पर गठित एक कार्यकारी समूह की रपट का आकलन करते हुए कही. इसमें 2010 की तुलना में 2016 में विदेशी पर्यटकों की संख्या में 12 फीसदी वार्षिक वृद्धि का अनुमान लगाया गया है. इस आधार पर 2016 में 1,90,108 होटल कमरों की जरुरत पड़ने का अनुमान है.

यह भी पढ़ें - मिर्जापुर में विदेशी पर्यटक से छेड़छाड़: पुलिस ने अब तक आठ आरोपियों को किया गिरफ्तार

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि देश में होटल कमरों की भारी कमी है और हम नए कमरों के निर्माण से ज्यादा होमस्टे और अन्य विकल्पों पर ध्यान देने के प्रयास कर रहे हैं. इसके लिए हम जाने-माने ब्रांड या परिचालित होटलों के साथ संबंध बना रहे हैं और उन्हें मान्यता दे रहे है.

पर्यटन मंत्रालय देश के भीतर पांच विशेष पर्यटन क्षेत्र विकसित करने पर भी काम कर रहा है ताकि इन क्षेत्रों को पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित किया जा सके. देश में जनवरी से नवंबर के बीच 90.01 लाख विदेशी पर्यटक आए. पिछले साल इसी अवधि में यह संख्या 15.6% कम यानी 77.83 लाख थी. (इनपुट भाषा से)

VIDEO: सोनभद्र में रॉबर्ट्सगंज रेलवे स्टेशन पर जर्मन नागरिक से मारपीट

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com