भगवान राम और अयोध्‍या पर PM केपी शर्मा ओली के बयान पर नेपाल सरकार की सफाई, कहा-इस बयान के पीछे..

पाल के विदेश मंत्रालय (Nepal Foreign Ministry) ने एक बयान जारी कर कहा, 'इस बयान के पीछे किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने का मक़सद नहीं था.

भगवान राम और अयोध्‍या पर PM केपी शर्मा ओली के बयान पर नेपाल सरकार की सफाई, कहा-इस बयान के पीछे..

नेपाल के पीएम के अयोध्‍या और भगवान राम पर बयान को लेकर भारत में काफी नाराजगी है

नई दिल्ली:

नेपाल (Nepal) के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli) इस समय चहुंओर निशाने पर हैं. नेपाल के नए नक्‍शे और इसमें भारत को कुछ हिस्‍सों को दिखाए जाने के कारण उन्‍हें भारत ही नहीं अपने देश में भी लोगों की आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है. भगवान राम (Lord Ram) और इसके जन्‍मस्‍थल अयोध्‍या (Ayodhya) के बारे में बेसिरपैर का बयान देकर ओली ने अपनी मुश्किलों में और इजाफा कर लिया है. ओली ने विवादित बयान देते हुए कहा था, 'अयोध्‍या (Ayodhya) नेपाल में है और भारत ने एक नक़ली अयोध्या को दुनिया के सामने रखकर सांस्कृतिक अतिक्रमण किया है. अब इस बयान पर नेपाल सरकार ने सफाई दी है. नेपाल के विदेश मंत्रालय (Nepal Foreign Ministry) ने एक बयान जारी कर कहा, 'इस बयान के पीछे किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने का मक़सद नहीं था. असल में राम, जन्‍मस्‍थान और उनसे जुड़े स्थानों से जुड़ी कई किंवदंतियां हैं, जानकारियां  है. उनके (पीएम ओली के) कहने का मतलब था कि रामायण के विशाल सांस्कृतिक भूगोल पर और शोध होना चाहिए. यह बयान अयोध्या को कमतर करने के लिए नहीं था.'

Newsbeep

गौरतलब है कि नेपाली मीडिया में आई खबर के अनुसार ओली ने विवादित बयान देते हुए कहा, 'अयोध्‍या (Ayodhya) नेपाल में है और भारत ने एक नक़ली अयोध्या को दुनिया के सामने रखकर सांस्कृतिक अतिक्रमण किया है. ओली यही नहीं रुके, उन्‍होंने कहा कि भगवान राम (Lord Ram) नेपाली हैं, न कि भारत के. नेपाल के प्रधानमंत्री ने अपने निवास पर आयोजित कार्यक्रम में कहा था कि भारत ने 'नकली अयोध्या' को दुनिया के सामने रखकर नेपाल की सांस्कृतिक तथ्यों का अतिक्रमण किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा था कि भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या, भारत के उत्तर प्रदेश में नहीं बल्कि नेपाल के बाल्मिकी आश्रम के पास है. नेपाल की ओर से नया राजनीतिक नक्‍शा (Nepal's New map) जारी करने और भारत (India) के कुछ हिस्‍सों को इसमें शामिल करने को लेकर नेपाल के पीएम ओली पहले ही भारत की आलोचना के केंद्रबिंदु बने हुए हैं. भारत का साफ तौर पर मानना है कि चीन की शह पर नेपाल कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के केपी शर्मा ओली इस तरह के कदम उठा रहे हैं जो कि उनके लिए 'आत्‍मघाती' साबित हो रहे हैं.