चार मंजिला होगा संसद का नया भवन,100 साल की जरूरतें पूरा करेगा : लोक सभा स्पीकर

लोकसभा स्पीकर (Lok Sabha Speaker) ने कहा कि भारत के संसद भवन की नई इमारत का डिजाइन त्रिकोण के आकार का होगा और पुराने परिसर के पास इसका निर्माण होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नए संसद (Parliament) भवन के निर्माण के लिए भूमि पूजन 10 दिसंबर को करेंगे.

चार मंजिला होगा संसद का नया भवन,100 साल की जरूरतें पूरा करेगा : लोक सभा स्पीकर

PM Narendra Modi 10 दिसंबर को नए संसद भवन का भूमि पूजन करेंगे

संसद का नया भवन चार मंजिला होगा और यह 100 साल की जरूरतों को पूरा करेगा.लोकसभा स्पीकर ओम बिरला (Om Birla) ने शनिवार को संसद भवन (Parliament Complex) के निर्माण, डिजाइन और इसकी खासियत से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी दी. यह इमारत सभी अत्याधुनिक डिजिटल सुविधाओं से लैस होगा. उन्होंने कहा, नया संसद भवन भारत के लोकतंत्र का स्तंभ होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) नए संसद (Parliament) भवन के निर्माण के लिए भूमि पूजन 10 दिसंबर को करेंगे.स्पीकर (Lok Sabha Speaker) ने कहा कि भारत के संसद भवन की नई इमारत का डिजाइन त्रिकोण के आकार का होगा और पुराने परिसर के पास इसका निर्माण होगा. नया संसद भवन भारत के लोकतंत्र का स्मारक होगा जो न केवल गौरवशाली इतिहास बल्कि भारतवासियों की शक्ति, विविधता और उद्यमिता का प्रतीक होगा. 

यह भी पढ़ें- नए संसद भवन में हर सांसद के लिए होगा डिजिटल सुविधाओं से लैस ऑफिस : लोकसभा सचिवालय

हर सांसद के लिए अलग कार्यालय होगा
प्रत्येक संसद सदस्य के लिए 40 वर्गमीटर के कार्यालय की व्यवस्था इसमें की जाएगी. लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला (Lok Sabha Speaker Om Birla)ने  कहा कि नए संसद भवन का शिलान्यास 10 दिसम्बर 2020 को किया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिलान्यास करने के आग्रह को स्वीकार कर लिया है. बिरला ने कहा कि नए संसद भवन (Parliament Complex) के निर्माण की आवश्यकता लंबे समय से महसूस की जा रही थी और अनेक सदस्यों ने आधुनिक सुविधाओं से सम्पन्न भवन की मांग की थी. भावी आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए नए भवन में लोक सभा कक्ष में 888 सदस्यों और संयुक्त बैठकों के दौरान 1224 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी.

सांसदों के अनुरोध के बाद निर्माण को मंजूरी
राज्य सभा कक्ष में 384 सदस्य बैठ सकेंगे स्पीकर के अनुसार, पिछले साल दोनों सभाओं के अनुरोध के बाद, प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) ने नए संसद भवन के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी. यह 130 करोड़ देशवासियों के लिए गर्व की बात है कि आजादी के बाद पहली बार पूरे देश के कारीगर और मूर्तिकार मिलकर नए संसद भवन का निर्माण करेंगे. भारत की सांस्कृतिक विविधता का परिचय देने वाला भवन आत्मनिर्भर भारत (Atmanirbhar Bharat) का प्रतीक होगा. लोकसभा अध्यक्ष ने आगे यह कहा कि भारत का लोकतंत्र और हमारी संसद समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं.

चार मंजिला होगा नया संसद
ओम बिरला (Om Birla) ने बताया कि नया संसद भवन चार मंजिल का होगा और इसे 971 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 64500 वर्ग मीटर क्षेत्र में निर्मित किया जाएगा. उन्होने कहा कि हमारी स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर संसद का सत्र नए संसद भवन में बुलाए जाने का प्रस्ताव है. आने वाले समय में प्रत्येक संसद सदस्य के लिए 40 वर्ग मीटर के कार्यालय की व्यवस्था की जाएगी। इस कार्य को 2024 तक पूरा किए जाने का लक्ष्य है.

100 साल की जरूरतों को पूरा करेगा
ओम बिरला ने कहा कि नए संसद भवन (Parliament Complex) का डिजाइन अहमदाबाद के  मैसर्स एचसीपी डिजाइन एंड मैनेजमेंट ने अगले 100 साल की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया है. नई दिल्ली और आसपास के इलाके भूकंप क्षेत्र V में आते हैं. नए भवन के दिशानिर्देशों के अनुसार भूकंप से सुरक्षा के लिए पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है. 

Newsbeep

डिजिटल सुविधाओं से लैस होगा
स्पीकर ने कहा, नया भवन सभी आधुनिक दृश्य-श्रव्य (आडिओ- विज़ुअल) संचार व्यवस्था और डाटा नेटवर्क प्रणाली से सुसज्जित होगा. पर्यावरण की सुरक्षा की ओर विशेष रूप से ध्यान दिया जा रहा है और निर्माण कार्य के दौरान संसद सत्रों में किसी प्रकार का व्यवधान नहीं होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


टाटा प्रोजेक्ट्स भवन निर्माण करेगी
नए भवन का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड करेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) नए संसद (Parliament) भवन के निर्माण के लिए भूमि पूजन 10 दिसंबर को करेंगे. नई बिल्डिंग में एक बड़ा कॉस्टीट्यूशन हॉल होगा, जिसमें भारत की लोकतांत्रिक विरासत की झलक दिखाई देगी. इसके अलावा, संसद सदस्यों के लॉन्ज, कई कमेटियों के लिए कमरे, डाइनिंग एरिया और पर्याप्त पार्किंग स्पेस होगा. 

संसद की नई इमारत का भूमिपूजन 10 दिसंबर को होगा