NIA की विशेष विंग टेरर फंडिंग और नक्सलियों के मनी लॉन्ड्रिंग मामलों की जांच करेगी

गृह मंत्रालय ने हाल में इस कार्य के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( एनआईए ) में विशिष्ट शाखा बनाने की मंजूरी दे दी है.  

NIA की विशेष विंग टेरर फंडिंग और नक्सलियों के मनी लॉन्ड्रिंग मामलों की जांच करेगी

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

नक्सली नेताओं और उनसे सहानुभूति रखने वाले ऐसे लोगों पर नजर रखने के लिए एनआईए की एक विशिष्ट शाखा बनाई जा रही है जो कथित तौर पर बड़े पैमाने पर धनशोधन के मामलों में संलिप्त हैं और अपने बच्चों की उच्च शिक्षा पर काफी राशि खर्च कर रहे हैं. गृह मंत्रालय ने हाल में इस कार्य के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( एनआईए ) में विशिष्ट शाखा बनाने की मंजूरी दे दी है.  

कश्मीरी अलगाववादियों के खिलाफ आतंकवादियों को धन मुहैया कराने की एनआईए की जांच के बाद यह कदम उठाया गया. जांच के दौरान एजेंसी ने हुर्रियत के कई नेताओं और उनके रिश्तेदारों को गिरफ्तार किया. इनमें हिज्बुल मुजाहिद्दीन के प्रमुख सैयद सलाउद्दीन का बेटा और कट्टरपंथी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद शामिल हैं.  

महाराष्ट्र में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, गढ़चिरैली में 16 नक्सली हुए ढेर

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया , ‘आतंकवाद को वित्त पोषण और नक्सलियों के धनशोधन मामलों पर नजर रखने के लिए एनआईए की विशिष्ट शाखा बनाई जा रही है। गृह मंत्रालय ने इसके लिए आवश्यक मंजूरी दे दी है.’ अधिकारी ने बताया कि नक्सली नेता और उनसे सहानुभूति रखने वाले लोग जो इस तरह के मामलों में संलिप्त हैं , उन पर एनआईए नजर रखेगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सतर्कता निदेशालय ( ईडी ) ने फरवरी में झारखंड के माओवादी कमांडर संदीप यादव की संपत्ति जब्त की थी. झारखंड , बिहार और छत्तीसगढ़ में कई ठेकेदार नक्सलियों की तरफ से लेवी वसूलते हैं और नक्सली नेताओं के लिए धनशोधन करते हैं. अधिकारी ने कहा कि ऐसे सभी मामलों को एनआईए जांच के लिए अपने हाथ में ले सकती है. 

VIDEO: नक्सली हमले में 9 जवान शहीद