निर्भया मामला: दोषियों के शव अंत्येष्टि के लिए परिजनों को सौंपे गए

निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्याकांड के चारों दोषियों के शव पोस्टमार्टम के बाद अंत्येष्टि के लिए शुक्रवार को उनके परिजनों को सौंप दिए गए.

निर्भया मामला: दोषियों के शव अंत्येष्टि के लिए परिजनों को सौंपे गए

फाईल फोटो

नई दिल्ली:

निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्याकांड के चारों दोषियों के शव पोस्टमार्टम के बाद अंत्येष्टि के लिए शुक्रवार को उनके परिजनों को सौंप दिए गए. तिहाड़ जेल अधिकारियों ने यह जानकारी दी. दोषियों के शवों का पोस्टमार्टम दीन दयाल उपाध्याय (डीडीयू) अस्पताल में किया गया. बता दें, दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 को एक चलती बस में पैरामेडिकल की 23 वर्षीय एक छात्रा के साथ हुए सामूहिक बलात्कार एवं उस पर हमले के चारों दोषियों मुकेश सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिंह (31) को शुक्रवार सुबह साढ़े पांच बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी गई.

निर्भया के दोषियों की फांसी पर कांग्रेस बोली- न्याय मिला, लेकिन देर से

जेल अधिकारियों ने बताया कि शवों को आधे घंटे तक फंदे से लटका कर रखा गया, जो जेल नियमावली के मुताबिक फांसी पर चढ़ाने के बाद एक अनिवार्य प्रक्रिया है. तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल ने कहा, ‘शवों की डॉक्टरों द्वारा जांच किए जाने और और चारों को मृत घोषित किये जाने के बाद, उन्हें पोस्टमार्टम के लिए डीडीयू अस्पताल भेजा गया. बाद में उनके शव उनके परिजनों को सौंप दिए गए.'

निर्भया के गुनाहगारों की फांसी पर क्या बोला बॉलीवुड? जानें यहां...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक अक्षय का शव बिहार के औरंगाबाद स्थित उसके गांव ले जाया जाएगा. उन्होंने बताया कि मुकेश के परिजन उसका शव राजस्थान ले जाएंगे. विनय और पवन के शवों को दक्षिण दिल्ली स्थित रविदास कैम्प में मौजूद उनके घर ले जाया जाएगा. इससे पहले उनके परिजन पोस्टमार्टम को लेकर आवश्यक कागजी कार्यवाही के डीडीयू अस्पताल पहुंचे थे. अस्पताल और खासतौर पर मुर्दाघर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे. यह पहला मौका है जब दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी जेल में चार दोषियों को फांसी दी गई. इस जेल में करीब 16,000 कैदी रखे गए हैं.

VIDEO: दोषियों की फांसी के बाद बोलीं निर्भया की मां- लंबा संघर्ष था