निर्भया केस: पूरी रात पुलिसवालों से पूछते रहे निर्भया के दोषी- क्या कोर्ट से कोई नया ऑर्डर आया

फांसी से पहले विनय बुरी तरह से गिड़गिड़ा रहा था और कह रहा था कि मुझे माफ कर दो. मुझे नहीं मरना. मुकेश-विनय ने डिनर किया था, खिचड़ी खायी. वहीं पवन और अक्षय रातभर बेचैन रहे.

निर्भया केस: पूरी रात पुलिसवालों से पूछते रहे निर्भया के दोषी- क्या कोर्ट से कोई नया ऑर्डर आया

निर्भया मामले के दोषी.

नई दिल्ली:

निर्भया गैंगरेप और मर्डर के चारों दोषियों मुकेश, अक्षय, विनय और पवन को शुक्रवार सुबह तिहाड़ जेल में फांसी पर लटका दिया गया. सात साल से ज्यादा लंबे समय के बाद आखिरकर निर्भया को इंसाफ मिल गया. चारों दोषी आखिरी वक्त तक फांसी टलवाने की कोशिश करते रहे. फांसी होने से दो घंटे पहले सुप्रीम कोर्ट ने उनकी आखिरी याचिका खारिज की. इससे पहले रात में दिल्ली हाई कोर्ट में उनकी याचिका पर सुनवाई की गई. लेकिन वहां भी उनकी याचिका खारिज कर दी गई थी, जिसके बाद इनका वकील सुप्रीम कोर्ट पहुंचा था. निर्भया के चारों दोषी रात भर नहीं सोए और पुलिसवालों से पूछते रहे कि क्या कोर्ट से कोई नया आदेश आया है. 

फांसी से पहले विनय बुरी तरह से गिड़गिड़ा रहा था और कह रहा था कि मुझे माफ कर दो. मुझे नहीं मरना.  मुकेश-विनय ने डिनर किया था, खिचड़ी खायी. वहीं पवन और अक्षय रातभर बेचैन रहे. सुबह चारों ने चाय पीने से मना कर दिया. फंदे पर लटकाने से पहले जब दोषियों को नहाने और कपड़े बदलने के लिए कहा गया, तो दोषी विनय ने कपड़े बदलने से इनकार कर दिया. इसके अलावा उसने रोना शुरु कर दिया और माफी मांगने लगा. 

जब फांसी से पहले उनकी आखिरी इच्छा पूछी गई कि पूजा करनी है या कुछ और? लेकिन चारों ने इसका कोई जवाब नहीं दिया.

Newsbeep

एनडीटीवी को मिली जानकारी के मुताबिक फांसी से पहले तिहाड़ के ज्यादातर कैदी समय से पहले जाग गए. चूंकि तिहाड़ के इतिहास में पहली बार बताकर चार दोषियों को फांसी हो रही है. समय और वक्त सब पहले से तय है, इसलिए बाकी कैदी भी सो नहीं पाए. जेल को पहले लॉकडाउन किया गया. जेल अधिकारियों ने फांसी घर का जायज़ा लिया. सभी दोषियों को फांसी के बारे में बताया गया. निर्भया के चारों दोषी रात भर नहीं सोए. सभी दोषियों का मेडिकल चेकअप हुआ. फांसी होते हुए केवल 5 लोग ही देख पाएं. 

वीडियो: दिल्ली के तिहाड़ जेल में निर्भया के दोषियों को हुई फांसी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com