NDTV Khabar

निर्भया मामले में प्रकाश जावड़ेकर ने दिल्ली सरकार पर उंगली उठाई, मनीष सिसोदिया ने दिया करारा जवाब

मनीष सिसोदिया ने कहा- पुलिस आपकी, कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी आपकी, तिहाड़ का डीजी आपका, फिर सवाल हमसे क्यों?

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
निर्भया मामले में प्रकाश जावड़ेकर ने दिल्ली सरकार पर उंगली उठाई, मनीष सिसोदिया ने दिया करारा जवाब

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के बयान पर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने तीखी प्रतिक्रिया दी है.

खास बातें

  1. दोषियों को फांसी में देरी पर जावड़ेकर ने दिल्ली सरकार को दोषी ठहराया
  2. सिसोदिया ने कहा- आपके पास मुद्दे नहीं, लेकिन इतनी घटिया बयानबाजी मत कीजिए
  3. दिल्ली पुलिस दो दिन के लिए दे दें, दो दिन में दोषियों को फांसी चढ़वा देंगे
नई दिल्ली:

मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के बयान पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि ''दुख हुआ कि केंद्र के वरिष्ठ मंत्री इतने संवेदनशील मसले पर इतना बड़ा झूठ बोल रहे हैं. पुलिस आपकी, कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी आपकी, तिहाड़ का डीजी आपका, फिर सवाल हमसे क्यों?'' निर्भया के दोषियों को फांसी लगने में हो रही देरी पर प्रकाश जावड़ेकर ने दिल्ली सरकार को दोषी ठहराया है.

मनीष सिसोदिया ने कहा कि ''मैं जानता हूं कि आपके पास मुद्दे नहीं हैं, लेकिन इतनी घटिया बयानबाजी मत कीजिए. दिल्ली पुलिस दो दिन के लिए हमें देकर देख लीजिए, दो दिन में निर्भया के दोषियों को फांसी चढ़वा देंगे.''

बीजेपी ने बृहस्पतिवार को निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्याकांड मामले के दोषियों को फांसी देने में विलंब के लिए दिल्ली की 'आप' सरकार की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि इस मामले में मौत की सजा के खिलाफ दोषियों की याचिका को उच्चतम न्यायालय द्वारा 2017 में खारिज किए जाने के ढाई साल बाद भी दिल्ली सरकार ने उन लोगों को नोटिस नहीं भेजा. बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पत्रकारों से कहा कि उच्चतम न्यायालय के आदेश के एक हफ्ते के भीतर सभी दोषियों को अगर आप सरकार ने नोटिस दे दिया होता तो अब तक उन्हें फांसी हो चुकी होती और देश को इंसाफ मिल चुका होता.


प्रकाश जावड़ेकर ने कहा- निर्भया के दोषियों को फांसी में देरी के पीछे AAP सरकार की लापरवाही जिम्मेदार

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार ने बुधवार को निर्भया दुष्कर्म और हत्या मामले में मौत की सजा पाए चार दोषियों में से एक मुकेश की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश की और उसे बिजली की गति से उप राज्यपाल के पास भेज दिया. दिल्ली सरकार ने उच्च न्यायालय को यह भी सूचित किया कि दोषियों को 22 जनवरी को फांसी पर नहीं लटकाया जाएगा क्योंकि उनमें से एक मुकेश ने दया याचिका दायर की है.

Nirbhaya Case: तिहाड़ जेल प्रशासन ने दिल्ली सरकार से मांगी फांसी की नई तारीख, कहा- दया याचिका के निपटारे तक...

चारों दोषियों मुकेश (32), विनय शर्मा (26), अक्षय कुमार सिंह (31) और पवन गुप्ता (25) को तिहाड़ जेल में 22 जनवरी की सुबह सात बजे फांसी दी जानी थी. चारों दोषियों को सुनाई गई मौत की सजा पर अमल के लिए दिल्ली की एक अदालत ने सात जनवरी को आदेश जारी किया था.

VIDEO : जावड़ेकर ने निर्भया के दोषियों को फांसी में देरी के लिए 'आप' को जिम्मेदार ठहराया

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 13 में सिद्धार्थ शुक्ला पर भड़कीं शहनाज गिल, कॉलर पकड़कर करने लगीं पिटाई- देखें Video

Advertisement