Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

निर्भया की मां का इंदिरा जयसिंह पर हमला, बोलीं- ये मानव अधिकारों के नाम पर बिजनेस चलाते हैं और...

निर्भया केस में वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह द्वारा दोषियों को लेकर दिए गए बयान पर निर्भया की मां आशा देवी ने एक बार फिर हमला किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
निर्भया की मां का इंदिरा जयसिंह पर हमला, बोलीं- ये मानव अधिकारों के नाम पर बिजनेस चलाते हैं और...

निर्भया की मां का इंदिरा जयसिंह- फाइल फोटो

खास बातें

  1. निर्भया की मां का इंदिरा जयसिंह को जवाब
  2. बोलीं- ये मानव अधिकारों के नाम पर बिजनेस चलाते हैं
  3. वरिष्ठ अधिवक्ता हैं इंदिरा जयसिंह
नई दिल्ली:

निर्भया केस में वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह द्वारा दोषियों को लेकर दिए गए बयान पर निर्भया की मां आशा देवी ने एक बार फिर हमला किया है. उनका कहना है कि ये (इंदिरा जयसिंह) मानव अधिकारों के नाम पर बिजनेस चलाते हैं और सिर्फ और सिर्फ मुजरिमों को सपोर्ट करते हैं. निर्भया की मां बोलीं, ''वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह ने जिस तरह से मुझसे सवाल किया. ये मानव अधिकारों के नाम पर समाज को धोखा देना है. बच्चियों के साथ हो रहे अपराधों का मजाक बनाना है. ये मानव अधिकारों के नाम पर बिजनेस चलाते हैं और सिर्फ और सिर्फ मुजरिमों को सपोर्ट करते हैं. मैं कंगना रनौत के बयान से सहमत हूं. मैं उनका धन्यवाद करती हूं. मैं किसी की तरह महान नहीं बनना चाहती. मैं एक मां हूं और सात साल पहले मेरी बेटी की जान गई है और मैं इंसाफ चाहती हूं.''

Nirbhaya Case: आखिरी ख्वाहिश को लेकर चुप्पी साधे हुए हैं निर्भया के चारों दोषी, एक फरवरी को होनी है फांसी


इससे पहले भी निर्भया की मां ने इंदिरा जयसिंह के बयान पर पलटवार कर चुकी हैं. वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह (Indira Jaising) ने निर्भया (Nirbhaya Case) की मां आशा देवी (Asha Devi) से दोषियों को माफ करने की बात कही थी. जयसिंह ने एक ट्वीट करते हुए लिखा था कि वह उनसे (निर्भया की मां) सोनिया गांधी का उदाहरण लेने का अनुरोध करती हैं. सोनिया ने नलिनी (राजीव गांधी की हत्या की दोषी) को माफ कर कहा था कि वह उसके लिए फांसी की सजा नहीं चाहती हैं. जयसिंह ने उनसे कहा कि वह उनके साथ हैं लेकिन फांसी की सजा के खिलाफ हैं.

निर्भया मामले में दोषियों के कानूनी दांव-पेंच से परेशान केंद्र सरकार पहुंची सुप्रीम कोर्ट

टिप्पणियां

जिसके बाद आशा देवी ने इस बारे में कहा था कि इंदिरा जयसिंह कौन होती हैं उन्हें यह सुझाव देने वालीं. पूरा देश चाहता है कि दोषियों को फांसी की सजा मिले. उनके जैसे लोगों की वजह से रेप पीड़िताओं को न्याय नहीं मिल पाता है. उन्होंने आगे कहा, 'मुझे यकीन नहीं हो रहा है कि इंदिरा जयसिंह ने ऐसा कहने की हिम्मत कैसे की. मैं उनसे सुप्रीम कोर्ट में कई बार मिली हूं. उन्होंने एक बार भी मुझसे मेरा हालचाल नहीं पूछा और आज वो दोषियों के पक्ष में बोल रही हैं. इस तरह के लोग रेपिस्ट को सपोर्ट करके अपना गुजारा करते हैं. यही वजह है कि रेप के मामले नहीं रुक रहे हैं.'

Video: निर्भया मामले में दोषी पवन की याचिका कोर्ट ने की खारिज



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... जस्टिस एस मुरलीधर के तबादले पर फूटा बॉलीवुड डायरेक्टर का गुस्सा, बोले- कोई शर्म नहीं बची है...

Advertisement