NDTV Khabar

सरकार सेना में महिलाओं को स्थाई कमीशन देने पर विचार कर रही है : निर्मला सीतारमण

रक्षा मंत्री के मुताबिक इसको लेकर हमारी सेना के तीनों अंगों के साथ बातचीत हो रही है कि महिलाओं को लेकर एक समान नीति हो.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सरकार सेना में महिलाओं को स्थाई कमीशन देने पर विचार कर रही है : निर्मला सीतारमण

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण सेना के अधिकारियों से बैठक की है.

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण  ने कहा कि सरकार सेना में महिलाओं को स्थाई कमीशन देने पर विचार कर रही है. उनके मुताबिक सुप्रीम कोर्ट सहित कई हाईकोर्ट में भी ये मामला लंबित चल रहा कि सेना में महिलाओं की संख्या कितनी होनी चाहिए. रक्षा मंत्री के मुताबिक इसको लेकर हमारी सेना के तीनों अंगों के साथ बातचीत हो रही है कि महिलाओं को लेकर एक समान नीति हो. हम खुले मन से इस बात के लिए कटिबद्ध हैं कि सेना में महिलाओं को ज्यादा अवसर मिले. हमारी कोशिश ये है कि सेना के तीनों अंगों में तालमेल से और अधिक महिलाओं को भर्ती हो सकें. 

आपको बता दें कि फिलहाल सेना में महिलाएं शार्ट सर्विस कमीशन के जरिए ही भर्ती होती हैं. केवल वायुसेना को छोड़ दिया जाए तो नौसेना और थल सेना में महिलाओ को कॉम्बेट रोल नहीं दिया जाता है. वायुसेना में अब जाकर महिलाएं लड़ाकू विमान उड़ा रही हैं लेकिन नौसेना में ना तो महिलायें युद्धपोत में तैनात हो सकती हैं और न ही थल सेना में महिलायें लड़ाई के मैदान में जा सकती हैं. सेना में महिलाओं की भर्ती 1992 से शुरू हुई है लेकिन इनकी तदाद अभी भी काफी कम है.

टिप्पणियां
वजह है अभी भी खुले दिल से सेना महिलाओं को लेना में हिचक रही है. फिलहाल करीब 13 लाख तादाद वाली थल सेना में सिर्फ 1561, वायुसेना में 1300 और नौसेना में 532 ही महिलायें हैं. सेना के तीनों अंगों में महिलाओं की सबसे अधिक भागीदारी वायुसेना में है करीब 8.5 फीसदी वही थल सेना में तो पुरुषों की तुलना में एक फीसदी से भी कम है.

   


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement