NDTV Khabar

देश की पहली महिला 'वित्तमंत्री' बनीं निर्मला सीतारमण, इस पद को देने के पीछे ये है बड़ी वजह

निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) उन महिला नेताओं में से एक हैं जो बेहद कम समय में राजनीति के शिखर तक पहुंची हैं. देश की पहली महिला रक्षा मंत्री होने का गौरव भी उन्‍हीं के नाम है और अब देश की पहली महिला वित्त मंत्री बन गई हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
देश की पहली महिला 'वित्तमंत्री' बनीं निर्मला सीतारमण, इस पद को देने के पीछे ये है बड़ी वजह

देश की पहली महिला वित्त मंत्री बनीं निर्मला सीतारमण

नई दिल्ली:

निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) उन महिला नेताओं में से एक हैं जो बेहद कम समय में राजनीति के शिखर तक पहुंची हैं. देश की पहली महिला रक्षा मंत्री होने का गौरव भी उन्‍हीं के नाम है और अब देश की पहली महिला वित्त मंत्री बन गई हैं. हालांकि उनसे पहले तात्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने पीएम पद के साथ-साथ वित्त मंत्री का कार्यभार 16 जुलाई 1969 से 27 जून 1970 तक संभाला था, लेकिन अभी तक किसी भी महिला को वित्तमंत्री के रूप में स्वंत्रत रूप से पद नहीं मिला. इस वजह से निर्मला सीतारमण पहली महिला वित्तमंत्री बनी गई हैं.

नीतीश कुमार ने क्यों कहा- यह जीत बिहार के लोगों की जीत है कोई मानेगा कि उनकी जीत है तो भ्रम है

निर्मला सीतारमण पेशे से अर्थाशास्त्री और समाज सेविका भी हैं. वह देश की कई महिलाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं. उनका जन्म 18 अगस्त 1959 को तमिलनाडु के मदुरै में हुआ था. उनके पिता नारायण सीतारमण भारतीय रेलवे में कार्यरत थे और इसी वजह से उनका बचपन राज्य के विभिन्न शहरों में बीता. उन्होंने सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज से बीए किया, जिसके बाद उन्होंने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी से एमए इकोनॉमिक्स की डिग्री हासिल की. साथ ही उन्होंने जेएनयू से एमफिल किया.


निर्मला सीतारमण की शादी डॉक्टर पराकाला प्रभाकर से हुई. उनके पति पराकाला प्रभाकर (Nirmala Sitharaman Husband) आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं. सीतारमण (Sitharaman) की प्रभाकर से मुलाकात तब हुई थी जब वह जेएनयू में पढ़ रही थीं. प्रभाकर ने लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स से पीएचडी की थी. इस वजह से भी मोदी कैबिनेट में निर्मला सीतारमण को यह पद हासिल हुआ है. प्रभाकर के साथ सीतारमण लंदन में रहने लगी थीं. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने लंदन के एक होम डिकोर में सेल्स गर्ल के रूप में कार्य किया था. बाद में उन्होंने प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स में सीनियर मैनेजर के तौर पर काम किया. बता दें कि सीतारमण ने बीबीसी वर्ल्ड सर्विस में भी काम किया.

मोदी कैबिनेट में अमित शाह से लेकर स्मृति ईरानी तक, कुल 57 मंत्रियों को मिली जिम्मेदारी- देखें पूरी लिस्ट

निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) 2003 से 2005 तक नेशनल कमिशन फॉर वुमन की सदस्य भी रह चुकी हैं. वह 2008 में भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हुईं और उन्होंने पार्टी के प्रवक्ता के पद पर कार्य किया. बीजेपी के प्रवक्ताओं के रूप में निर्मला सीतारमण अक्सर टीवी चैनलों पर नजर आने लगीं. 2014 में उन्हें मोदी सरकार की कैबिनेट में शामिल किया गया. 2016 में निर्मला सीतारमण राज्य सभा की सदस्य बनीं.

26 मई 2016 में निर्मला सीतारमण भारत ने वाणिज्य और उद्योग (स्वतंत्र प्रभार) तथा वित्त व कारपोरेट मामलों की राज्य मंत्री के पद पर शपद ली. 3 सितंबर 2017 को सीतारमण भारत की पहली रक्षा मंत्री (Defence Minister Nirmala Sitharaman) बनीं. बता दें कि इंदिरा गांधी ने भी रक्षा मंत्रालय की कमान संभाली थीं. उन्होंने प्रधानमंत्री रहते हुए रक्षा मंत्री का अतिरिक्त प्रभार संभाला था.

पीएम मोदी के बाद सबसे शक्तिशाली मंत्री बने अमित शाह, सरकार में होगी अब नंबर-2 की भूमिका

निर्मला सीतारमण ने 17 जनवरी 2018 को सुखोई-30 लड़ाकू विमान में उड़ान भरी थी. निर्मला सीतारमण पहली महिला रक्षा मंत्री रहीं, जिन्‍होंने लड़ाकू विमान में उड़ान भरी. इससे पहले 25 नवंबर 2009 में तीनों सेनाओं के सुप्रीम कमांडर के तौर पर पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल पुणे में सुखोई में उड़ान भर चुकी हैं.

लोकसभा चुनाव से पहले जब विपक्ष ने मोदी सरकार को राफेल मामले पर घेर लिया था तब संसद में जवाब देते हुए निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस पर जमकर पलटवार किया. संसद में दिया उनका भाषण लोगों को बेहद पसंद आया और देखते ही देखते उनके भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था.

टिप्पणियां

Video: राफेल पर रिपोर्ट और फिर मच गया हंगामा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement