अर्थव्यवस्था को लेकर निर्मला सीतारमण और राहुल गांधी के बीच वाक युद्ध

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने फिर दुहराया कि मनमोहन सरकार की नीतियों ने अर्थव्यवस्था को कमजोर किया

अर्थव्यवस्था को लेकर निर्मला सीतारमण और राहुल गांधी के बीच वाक युद्ध

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण.

खास बातें

  • राहुल ने कहा कि मनमोहन सरकार को विकास का सेहरा
  • कहा- मौजूदा सरकार के समय हालात बिगड़े
  • पीयूष गोयल ने नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी पर निशाना साधा
नई दिल्ली:

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कल मोदी सरकार के आर्थिक लक्ष्यों को असंभव करार दिया. आज जवाब देने की बारी निर्मला सीतारमण की थी. कांग्रेस कह रही है बीजेपी सच्चाई से आंखें मूंद रही है, छह महीने में और बुरा हाल होगा. शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमणने फिर दुहराया कि मनमोहन सरकार की नीतियों ने अर्थव्यवस्था को कमजोर किया. वाशिंगटन में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने एक तरह से पूर्व प्रधानमंत्री के आरोपों का जवाब दिया.

निर्मला सीतारमण ने कहा कि "आईएमएफ ने ग्रोथ प्रोजेक्शंस घटाई हैं. भारत की भी घटाई हैं...पर हम अब भी दुनिया की सबसे तेज़ रफ़्तार अर्थव्यवस्था हैं...अच्छा होता कि मनमोहन सिंह दूसरे मुद्दों पर सलाह देते."

निर्मला सीतरमण ने ग्लोबल इनवेस्टर्स से कहा कि भारत में कॉर्पोरेट टैक्स अब दुनिया की सबसे कम दरों में एक है. लेकिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने महेंद्रगढ़ में कहा कि दरअसल मनमोहन सरकार को विकास का सेहरा जाता है और मौजूदा सरकार के समय हालात बिगड़े हैं.

निर्मला सीतारमण ने कहा- किसी क्षेत्र में परेशानी है, तो सरकार को देखना होगा कि पहले क्या गलत हुआ

राहुल गांधी ने कहा, "कुछ दिन पहले कॉर्पोरेट टैक्स कम किया गया. उद्योगपतियों को एक लाख 25 हज़ार करोड़ की राहत दी गई. मीडिया ने कहा अब अर्थव्यवस्था ठीक हो जाएगी. लेकिन तीन दिन में गैस का गुब्बारा फटा, खत्म कहानी...आप देखिएगा कि अगले छह महीने में अर्थव्यवस्था की क्या हालत होती है. बेरोजगारी की क्या हालत होती है..."

भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर IMF के दावों के बीच निर्मला सीतारमण का आया बयान, कहा - भारत सबसे तेजी से...

इस राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप के बीच वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी पर निशाना साध दिया. पीयूष गोयल ने कहा कि, अभिजीत बनर्जी जी को नोबेल प्राइज मिला, मैं उनको बधाई देता हूं. लेकिन उनकी समझ के बारे में तो आप सब जानते हैं.  उनकी जो थिंकिंग है वह टोटली लेफ्ट लीनिंग है. उन्होंने NYAY के बड़े गुणगान गाए थे, भारत की जनता ने टोटली रिजेक्ट कर दिया उनकी सोच को.

निर्मला सीतारमण का मनमोहन सिंह को जवाब, बोलीं- किसी खास अवधि में कब और क्या गलत हुआ, इसे याद करना बेहद जरूरी

साफ है, महाराष्ट्र और हरियाणा के चुनावी अभियान में कमजोर पड़ती अर्थव्यवस्था एक बड़ा चुनावी मुद्दा बन चुकी है. बीजेपी और कांग्रेस नेताओं के बीच अर्थव्यवस्था के हालात को लेकर तकरार आने वाले दिनों में और तेज़ हो सकता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : पीएमसी से जुड़े घटनाक्रम पर सरकार की नजर