नौसेना की नजर से नहीं बच सकेंगी दुश्मन की पनडुब्बियां, INS किलतान आज होगा बेड़े में शामिल

विशाखापत्तनम मे रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण करीब 9.30 बजे इसे देश को समर्पित करेंगी. इसका नाम लक्ष्यदीप के नाम पर द्वीप रखा गया है.

नौसेना की नजर से नहीं बच सकेंगी दुश्मन की पनडुब्बियां,  INS किलतान आज होगा बेड़े में शामिल

INS किलतान आज नौसेना के बेड़े में होगा शामिल

खास बातें

  • आईएनएस किलतान आज होगा नौसेना के बेड़े में शामिल
  • इसका नाम लक्ष्यदीप के नाम पर द्वीप रखा गया है
  • पानी में किसी भी हमले को नाकाम करने में सक्षम
नई दिल्ली:

दुश्मन की पनडुब्बियों को बरबाद करने वाला नौसेना का नया युद्धपोत आईएनएस किलतान आज भारतीय नौसेना मे शामिल हो जाएगा. विशाखापत्तनम मे रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण करीब 9.30 बजे इसे देश को समर्पित करेंगी. इसका नाम लक्ष्यदीप के नाम पर द्वीप रखा गया है.

नौसेना ने भारतीय पोत पर समुद्री लुटेरों के हमले को किया नाकाम

पूरी तरह से देश में बना ये विध्वंसक पानी के अंदर दुश्मन के किसी भी हमले को नाकाम करने मे सक्षम है. नौसेना के नेवल डिज़ाइन निदेशालय के डिज़ाइन पर गार्डनरीच शिपयार्ड ने इसे बनाया है. ये हाई क्लास स्टील डीएमआर 249 से बना है, जिसे स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी सेल ने ही बनाया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भारत, अमेरिका और जापान के सबसे बड़े नौसैन्य अभ्यास पर चीन ने यह कहा...

3500 टन वजनी ये युद्धपोत 109 मीटर लंबा है. चार डीज़ल इंजन इसमें लगे हैं, जो करीब 45 किलोमीटर रफ्तार से चल सकते हैं. इसमें आधुनिक हथियार व सेंसर लगे हैं. साथ में मध्यम दूरी के टॉप, रॉकेट लांचर के हथियार तो हैं ही और हेलिकॉप्टर के लैंडिंग की भी सुविधा है. नौसेना का यह युद्धपोत रासायनिक, जैविक और परमाणु हालात में भी लड़ने मे सक्षम है.