NDTV Khabar

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बोले, राज्य चाहें तो जुर्माना घटा दें, लेकिन क्या ये सच्चाई नहीं है...

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने राज्यों से यातायात नियमों के उल्लंघन पर जुमार्ने में ढील देने की अपील की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बोले, राज्य चाहें तो जुर्माना घटा दें, लेकिन क्या ये सच्चाई नहीं है...

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. नितिन गडकरी ने कहा, लोगों की जान बचाना ज्यादा जरूरी है
  2. नई योजना से लोगों की जान बचाने में मदद मिलेगी
  3. लोग नियमों का पालन करने लगे हैं
नई दिल्ली :

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने राज्यों से यातायात नियमों के उल्लंघन पर जुमार्ने में ढील देने की अपील की है. उनका यह बयान ऐसे मौके पर आया है जब एक दिन पहले ही भाजपा शासित गुजरात ने जुर्माने में कटौती का फैसला किया था. नितिन गडकरी ने कहा, 'यह कोई राजस्व इकट्ठा करने की योजना नहीं है...क्या आपको डेढ़ लाख लोगों की मौत की चिंता नहीं है?' उन्होंने कहा, 'अगर राज्य सरकारें जुर्माने की रकम को घटाना चाहती हैं तो ठीक है, लेकिन क्या यह सच्चाई नहीं है कि लोग न तो कानून को मानते हैं और न ही इससे डरते हैं.' 

नितिन गडकरी ने कहा- कड़े नियमों का लक्ष्य है सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाना

नितिन गडकरी ने कहा, सभी राज्यों को तमिलनाडु से सीखना चाहिए, जहां सड़क दुर्घटनाओं में 28 प्रतिशत की कमी आई है. उन्होंने कहा, 'करीब 2-3 लाख लोग सड़क दुर्घटनाओं की वजह से अपने शरीर के अंगों को गंवा रहे हैं, जो इस देश के लिए बेहद चिंताजनक है. मेरी अपील है कि ये जुर्माना राजस्व के लिए नहीं है, बल्कि लोगों की जान बचाने के लिए है. हमारे यहां सबसे ज्यादा मौतें हो रही हैं.' उन्होंने कहा, 'बदलाव दिख रहा है. लोग कानून का उल्लंघन करने से बच रहे हैं. इस व्यवस्था की वजह से लोगों की जान बचाने में मदद मिलेगी.' 


...जब ट्रैफिक नियम तोड़ने पर परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को भी भरना पड़ा जुर्माना, जानें पूरा मामला

टिप्पणियां

आपको बता दें कि गुजरात सरकार ने 'मानवता के आधार पर' यातायात नियमों के उल्लंघन पर लगाए जाने वाले जुर्माने में 90 फीसद तक की कटौती करने का निर्णय लिया है. हालांकि राज्य सरकार के इस फैसले ने बीजेपी के लिए असहज स्थिति पैदा कर दी है, क्योंकि बीजेपी जुर्माने में बढ़ोतरी की पक्षधर रही है. हालांकि अब खुद बीजेपी शासित राज्य के ही एक मुख्यमंत्री ने जुर्माने में कटौती का फैसला किया है. सूत्रों का कहना है कि इस मामले में पार्टी नेतृत्व गुजरात के सीएम विजय रूपाणी से जवाब तलब कर सकती है.  

वीडियो: नितिन गडकरी ने सरकार के कामकाज पर उठाए सवाल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement