NDTV Khabar

राहुल गांधी ने नितिन गडकरी को बताया 'साहसी' तो पलटवार में मिला जवाब- आपके सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं

राहुल गांधी ने गडकरी के बयान से जुड़ी खबर शेयर करते हुए ट्वीट कर कहा था, ‘गडकरी जी, आपकी सराहना करता हूं. आप भाजपा में इकलौते हैं जिनमें कुछ साहस है.’

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

कांग्रेस (Congress) अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi)ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) को 'साहसी' बताया तो उन्हें पलटवार में जवाब मिला कि 'मुझे आपके सर्टिफिकेट' की जरूरत नहीं है. गडकरी के हाल के कुछ बयानों के मद्देनजर राहुल गांधी ने उनकी तारीफ करते हुए सोमवार को कहा था कि भाजपा में गडकरी इकलौते ऐसे नेता हैं, जिनमें कुछ साहस है और ऐसे में उन्हें राफेल, किसानों और बेरोजगारी के मुद्दों पर भी बोलना चाहिए. 

इस पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि मेरी हिम्मत के लिए मुझे आप के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है. गडकरी ने ट्वीट करते हुए कहा, 'राहुल गांधी जी, मेरी हिम्मत के लिए मुझे आप के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है लेकिन आश्चर्य इस बात का है कि एक राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष होने बाद भी हमारी सरकार पर हमला करने के लिए आपको मीडिया द्वारा टि्वस्ट की गई खबरों का सहारा लेना पड़ रहा है.'


राहुल गांधी बोले-नितिन गडकरी में साहस है, उन्हें राफेल और बेरोजगारी पर भी बोलना चाहिए

राहुल गांधी ने गडकरी के बयान से जुड़ी खबर शेयर करते हुए ट्वीट कर कहा था, ‘गडकरी जी, आपकी सराहना करता हूं. आप भाजपा में इकलौते हैं जिनमें कुछ साहस है.' उन्होंने कहा, ‘कृपया आप (गडकरी) राफेल घोटाले और अनिल अंबानी, किसानों की पीड़ा और संस्थाओं को नष्ट किए जाने पर भी टिप्पणी करिए.' बाद में उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘ओह, गडकरी जी. माफी चाहता हूं. मैं सबसे महत्वपूर्ण विषय - नौकरी को भूल गया था.' 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बोले- जो घर नहीं संभाल सकता, वह देश क्या संभालेगा?

दरअसल केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने हालही कहा था कि भाजपा कार्यकर्ताओं को पहले अपनी घरेलू जिम्मेदारियों को पूरा करना चाहिए क्योंकि जो ऐसा नहीं कर सकता, वह ‘देश नहीं संभाल सकता.' गडकरी, भाजपा की छात्र शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व कार्यकर्ताओं के एक सम्मेलन को शनिवार को संबोधित कर रहे थे. गडकरी ने कहा, ‘मैं कई लोगों से मिला हूं जिन्होंने कहा है कि हम भाजपा, देश के लिए अपना जीवन समर्पित करना चाहते हैं. मैं (ऐसे लोगों से) कहता हूं, आप क्या कर रहे हैं और आपके परिवार में और कौन लोग हैं. वह बताता है कि मैंने अपनी दुकान बंद कर दी है क्योंकि वह ठीक से नहीं चल रही थी... घर में पत्नी, बच्चे हैं.'

साथ ही उन्होंने कहा था, ‘मैं (उनसे) कहता हूं, पहले अपने घर की देखभाल करें, क्योंकि जो अपना घर नहीं संभाल सकता, वह देश नहीं संभाल सकता. ऐसे में पहले अपना घर संभालें और अपने बच्चे, संपत्ति देखने के बाद पार्टी और देश के लिए काम करें.'

कांग्रेस बोली, नितिन गडकरी के निशाने पर प्रधानमंत्री मोदी और उनकी निगाहें पीएम की कुर्सी पर

टिप्पणियां

बता दें, गडकरी ने हाल के दिनों में ऐसे कुछ बयान दिए हैं जिसे विपक्षी दलों और मीडिया के एक वर्ग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाने के तौर पर देखा जा रहा है, हालांकि गडकरी ने एक निजी चैनल से बातचीत में इससे साफ इनकार किया है. उन्होंने कहा कि उनके बयानों को तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है.

गडकरी का इशारा किसकी तरफ: सपने दिखाने वाले नेता अच्छे लगते हैं पर अगर पूरे नहीं किए तो जनता पिटाई भी करती है



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement