नीतीश कुमार का डीजीपी को सख़्त निर्देश, रूपेश हत्याकांड में शामिल अपराधियों को करें गिरफ़्तार

मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के पुलिस महानिदेशक एस के सिंघल को अपने दफ़्तर में तलब किया और सख़्त निर्देश दिया कि इस मामले का उद्दभेदन कर दोषियों की अवबिलंब गिरफ़्तारी सुनिश्चत करें.

नीतीश कुमार का डीजीपी को सख़्त निर्देश, रूपेश हत्याकांड में शामिल अपराधियों को करें गिरफ़्तार

रूपेश हत्याकांड में अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है

पटना:

बिहार में भले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पुलिस विभाग के मुखिया हों लेकिन उनके तमाम दावों के बावजूद इंडिगो एयरलाइंस (Indigo Station Manager murder) के मैनेजर रूपेश कुमार (Rupesh Kumar SIngh murder case) की हत्या की गुत्थी सुलझी नहीं है. उधर हर दिन कोई ना कोई नेता स्वर्गीय रूपेश से अपनी मित्रता के कारण उनके परिवार वालों से मिलने उनके गांव जा रहे हैं. मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के पुलिस महानिदेशक एस के सिंघल को अपने दफ़्तर में तलब किया और सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार सख़्त निर्देश दिया कि इस मामले का उद्दभेदन कर दोषियों की अवबिलंब गिरफ़्तारी सुनिश्चत करें.

कैसे एक हत्या की वारदात ने नीतीश कुमार सरकार के लिए मुश्किलें बढ़ा दीं

ऐसे मामले में सख़्ती से पेश आने के साथ-साथ नीतीश कुमार ने राज्य के अन्य भागों में हुए ऐसे लंबित मामलों में भी कारवाई करने का आदेश दिया. नीतीश कुमार ने साफ़ किया कि ऐसे मामलों में किसी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जायेगी.


रूपेश हत्या कांड के सम्बंध में हालांकि पुलिस महानिदेशक ने इस मामले को एयरपोर्ट पर टैक्सी स्टैंड के विवाद से सम्बंधित बताया था लेकिन मंगलवार देर शाम तक इस सम्बंध में ना कोई गिरफ़्तारी हुई ना ही कोई संवादाता सम्मेलन. और अधिकांश जानकारों का मानना हैं कि ये हत्या अभी भी ब्लाइंड केस है. इसलिए मामूली विवाद से जोड़ कर पुलिस इसे रफ़ा दफ़ा करना चाहती है.

बिहार में बढ़ते अपराध के सवालों पर भड़के नीतीश कुमार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com