NDTV Khabar

NMC बिल के खिलाफ डॉक्टर हड़ताल पर, आपात सेवाएं बहाल, गैर-आवश्यक विभाग प्रभावित रहेंगे

राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग (एनएमसी) विधेयक के खिलाफ रेजिडेंट डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने के चलते दिल्ली के कई सरकारी अस्पतालों में मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने हड़ताल कर रहे डॉक्टरों से काम पर लौटने की अपील की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NMC बिल के खिलाफ डॉक्टर हड़ताल पर, आपात सेवाएं बहाल, गैर-आवश्यक विभाग प्रभावित रहेंगे
नई दिल्ली:

राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग (एनएमसी) विधेयक के खिलाफ रेजिडेंट डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने के चलते दिल्ली के कई सरकारी अस्पतालों में मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने हड़ताल कर रहे डॉक्टरों से काम पर लौटने की अपील की. विभिन्न एसोसिएशनों के डॉक्टरों ने विधेयक के कुछ प्रावधानों को लेकर आपत्तियां व्यक्त की और आरोप लगाया कि ये ‘‘गरीबी विरोधी, छात्र-विरोधी और अलोकतांत्रिक है.''    हालांकि, शुक्रवार तकरीबन आधी रात को एम्स, आरएमएल अस्पताल और दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों समेत अधिकांश अस्पतालों में आपातकालीन सेवाएं फिर से शुरू कर दी गईं.  


स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन हड़ताली डॉक्टरों से मिले, कहा- वरदान साबित होने वाला है एनएमसी बिल

टिप्पणियां

प्रदर्शनकारी डॉक्टर गैर-आवश्यक सेवा विभागों में हड़ताल जारी रखेंगे, जिसमें बाह्य-रोगी विभाग (ओपीडी) शामिल है.  यह निर्णय देर रात तक चलीं रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशनों की बैठकों में लिया गया. एम्स, सफदरजंग अस्पताल, आरएमएल अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टरों के संघों और फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (फोर्डा) और यूनाइटेड रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (यूआरडीए) से जुड़े चिकित्सकों ने बृहस्पतिवार को आपातकालीन विभाग में काम का बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन किया था. उन्होंने बृहस्पतिवार शाम एनएमसी विधेयक राज्यसभा से पारित होने के बाद शुक्रवार को भी अपनी हड़ताल जारी रखी.
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement