NDA के सहयोगी दल शिवसेना का बड़ा बयान, पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा- अब 2014 जैसी मोदी लहर नहीं...

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने मुंबई में पार्टी की वार्षिक दशहरा रैली को संबोधित करते हुए मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला.

NDA के सहयोगी दल शिवसेना का बड़ा बयान, पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा- अब 2014 जैसी मोदी लहर नहीं...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • उद्धव बोले- देश में 2014 जैसी लहर नहीं
  • मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा
  • 25 नवंबर को अयोध्या जाएंगे अद्वव
नई दिल्ली:

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुंबई में पार्टी की वार्षिक दशहरा रैली को संबोधित करते हुए मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. उद्वव ने राम मंदिर सहित कई मुद्दों पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में अब '2014 जैसी लहर' नहीं है. भाजपा ने 2014 में अपनी चुनावी जीत का श्रेय 'मोदी लहर' को दिया था. ठाकरे ने शिवसेना कार्यकर्ताओं से चुनावों के लिए तैयार रहने को कहा. इसी साल हुए पार्टी के सम्मेलन में शिवसेना ने घोषणा की थी कि वह भविष्य में होने वाले चुनाव अकेले लड़ेगी. बता दें कि शिवसेना केंद्र और महाराष्ट्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार में साझीदार है और राजग का सबसे पुराना घटक है.

यह भी पढ़ें : शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 25 नवंबर को जाएंगे अयोध्या, PM मोदी से पूछेंगे यह सवाल...

शिवसेना प्रमुख ने राम मंदिर के मुद्दे पर भी मोदी सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि वह 25 नवंबर को अयोध्या जाएंगे और पीएम मोदी से पूछेगें कि राम मंदिर का निर्माण क्यों नहीं हो रहा है. शिवसेना प्रमुख ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि जैसे अच्छे दिन एक जुमला है, 15 लाख रुपये खाते में भेजना एक जुमला है वैसे ही अगर आपने राम मंदिर पर बात नहीं किया तो उसे भी जुमला बोलना पड़ेगा.
 

uddhav thackeray pti
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पार्टी की वार्षिक दशहरा रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला.

ठाकरे ने पार्टी कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में कहा, 'मैं 25 नवंबर को अयोध्या जाउंगा. मैं प्रधानमंत्री मोदी से सवाल करूंगा (मंदिर निर्माण में कथित देरी पर). उन्होंने कहा कि हम प्रधानमंत्री के दुश्मन नहीं है, लेकिन हम लोगों की भावनाओं के साथ नहीं खेलना चाहते.' उन्होंने यह भी जानना चाहा कि प्रधानमंत्री बनने के साढ़े चार साल बाद भी मोदी क्यों अयोध्या नहीं गए? ठाकरे ने भाजपा से कहा कि वह राम मंदिर निर्माण के अपने वादे को अगर पूरा नहीं करती है तो इसे 'जुमला' घोषित कर दे.

बता दें कि इससे पहले आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने राम मंदिर राग (Ram Mandir) छेड़ा था. उनकी मांग है कि अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए सरकार कानून बनाए. मोहन भागवत ने कहा, 'राम जन्मभूमि स्थल का आवंटन होना बाकी है, जबकि साक्ष्यों से पुष्टि हो चुकी है कि उस जगह पर एक मंदिर था. राजनीतिक दखल नहीं होता तो मंदिर बहुत पहले बन गया होता. हम चाहते हैं कि सरकार कानून के जरिए (राम मंदिर) निर्माण का मार्ग प्रशस्त करे.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : मिशन 2019: 'चुनाव आते ही फिर राम याद आए'

आरएसएस प्रमुख ने कहा, 'राष्ट्रहित के इस मामले में स्वार्थ के लिए सांप्रदायिक राजनीति करने वाली कुछ कट्टरपंथी ताकतें रोड़े अटका रही हैं. राजनीति के कारण राम मंदिर निर्माण में देरी हो रही है.'