NDTV Khabar

एंबुलेंस नहीं मिलने पर यूपी में साइकिल तो ओडिशा में परिवार को व्‍हील स्‍ट्रेचर पर ले जाना पड़ा शव

ओडिशा के फूलबनी में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया हैं, जहां एक परिवार को अपनी किशोरी बेटी का शव व्‍हील स्‍ट्रेचर पर ले जाना पड़ा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एंबुलेंस नहीं मिलने पर यूपी में साइकिल तो ओडिशा में परिवार को व्‍हील स्‍ट्रेचर पर ले जाना पड़ा शव

ओडिशा के फूलबनी में एक परिवार को अपनी किशोरी बेटी का शव व्‍हील स्‍ट्रेचर पर ले जाना पड़ा...

खास बातें

  1. बृजमोहन का आरोप है कि अस्पताल ने शव वाहन नहीं उपलब्ध कराया.
  2. मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एस.के उपाध्याय ने कहा, जांच शुरू करा दी है.
  3. ओडिशा के फूलबनी में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया हैं.
नई दिल्‍ली:

जिला अस्पताल में कथित तौर पर शव वाहन नहीं मिलने से सात महीने की मासूम बच्ची के शव को उसके मामा द्वारा साइकिल से ही अस्पताल से गांव ले जाने का मामला प्रकाश में आया है.

मंझनपुर तहसील क्षेत्र के मलाक सददी गांव निवासी अनंत कुमार मजदूरी करते हैं. उनकी सात महीने की मासूम बेटी उल्टी दस्त से पीड़ित थी. मासूम को उसके मामा बृजमोहन ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. बृजमोहन का आरोप है कि अस्पताल ने शव वाहन नहीं उपलब्ध कराया, जिसकी वजह से वह भांजी के शव को साइकिल से ही गांव लेकर गया.

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एस.के उपाध्याय ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है. उन्होंने जांच शुरू करा दी है. जांच की रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

टिप्पणियां

वहीं, ओडिशा के फूलबनी में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया हैं, जहां एक परिवार को अपनी किशोरी बेटी का शव व्‍हील स्‍ट्रेचर पर ले जाना पड़ा. एक किलोमीटर तक आगे जाने के बाद जिला प्रशासन ने पुलिस मुख्‍यालय के सामने पहुंचने के बाद परिवार को वाहन मुहैया कराया. परिवार ने कहा कि उन्‍हें वहां वाहन के लिए डेढ़ घंटे तक इंतजार करना पड़ा. 


(इनपुट एजेंसी से भी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement