JNU में फीस बढ़ोत्तरी पर MHRD के फार्मूले में नहीं हुआ कोई बदलाव, कुलपति ने दी जानकारी

जेएनयू में बढ़ी हुई फीस वापस लेने को लेकर छात्रों ने कड़ा विरोध प्रदर्शन किया था. इसके बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने पिछले महीने हस्तक्षेप करते हुए इस मुद्दे के समाधान के लिये तीन सदस्यीय समिति का गठन किया.

JNU में फीस बढ़ोत्तरी पर MHRD के फार्मूले में नहीं हुआ कोई बदलाव, कुलपति ने दी जानकारी

जेएनयू में बढ़ी हुई फीस वापस लेने को लेकर छात्रों ने कड़ा विरोध प्रदर्शन किया था.

खास बातें

  • फीस बढ़ोत्तरी को लेकर जेएनयू में हुआ है लंबा संघर्ष
  • छात्रों से नहीं वसूली जा रही सेवा या यूटिलीटी फीस
  • यूटिलिटी शुल्क का वहन करेगा यूजीसी
नई दिल्ली:

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में फीस को लेकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नया फार्मूला ही लागू होगा. इस फार्मूले में छात्रों से सेवा या उपयोग फीस नहीं वसूली गई है. विश्वविद्यालय के कुलपति एम जगदीश कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा,  ‘‘जहां तक फीस मुद्दे का सवाल है, पिछले महीने तय एचआरडी के फार्मूले में कोई बदलाव नहीं हुआ है. जो निर्णय हुआ था, उसके अनुसार छात्रों से सेवा या उपयोग (यूटिलीटी) फीस नहीं वसूली जा रही है.''

JNU में हुई हिंसा पर भड़के वरुण धवन, बोले- ऐसे हमलों की निंदा करनी होगी यह बहुत खतरनाक है

कुमार ने कहा, ‘‘हमने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के तय निर्णय के अनुरूप सेवा एवं यूटिलिटी शुल्क की भरपाई के लिये फंड जारी करने के लिये लिखा है.''

Newsbeep

JNU में अब तक 3 हजार से ज्यादा छात्र शीतकालीन सत्र के लिए करा चुके हैं रजिस्ट्रेशन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि जेएनयू में बढ़ी हुई फीस वापस लेने को लेकर छात्रों ने कड़ा विरोध प्रदर्शन किया था. इसके बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने पिछले महीने हस्तक्षेप करते हुए इस मुद्दे के समाधान के लिये तीन सदस्यीय समिति का गठन किया. इसमें यह फार्मूला तय किया गया कि सेवा एवं यूटिलिटी शुल्क का वहन यूजीसी करेगा, छात्र नहीं.  छात्रों को केवल कमरे का किराया देना होगा.  हालांकि छात्र पूरी फीस वृद्धि को वापस लेने की मांग कर रहे हैं.
(इनपुट-भाषा)