NDTV Khabar

विपक्ष का अविश्‍वास प्रस्‍ताव गिरा, समर्थन में पड़े 126 वोट जबकि विरोध में 325 वोट पड़े

तेलुगूदेशम पार्टी ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर राजग सरकार से अलग होने के बाद उसके खिलाफ यह अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विपक्ष का अविश्‍वास प्रस्‍ताव गिरा, समर्थन में पड़े 126 वोट जबकि विरोध में 325 वोट पड़े

लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा का जवाब देते पीएम नरेंद्र मोदी

खास बातें

  1. बीजेपी चुनावी साल में इसे एक बड़े मौके के तौर पर देख रही है.
  2. लोकसभा में चर्चा की शुरुआत प्रस्ताव लाने वाला मुख्य दल TDP करेगा
  3. आज हमारे संसदीय लोकतंत्र का महत्वपूर्ण दिन है : पीएम मोदी
नई दिल्ली: मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के पहला अविश्वास प्रस्ताव (No-confidence motion) गिर गया है. अविश्वास प्रस्ताव पर आज लगभग 12 घंटे की चर्चा के बाद हुए मत-विभाजन में 451 सदस्यों ने हिस्सा लिया जिसमें अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 126 वोट पड़े जबकि विरोध में 325 मत पड़े. तेलुगूदेशम पार्टी ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर राजग सरकार से अलग होने के बाद उसके खिलाफ यह अविश्वास प्रस्ताव पेश किया था. तेदेपा के श्रीनिवास केसीनेनी द्वारा पेश अविश्वास प्रस्ताव को गत बुधवार को सदन ने स्वीकार किया था. जिस पर चर्चा के लिए लोकसभा अध्यक्ष ने आज का दिन निर्धारित किया था.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष द्ववारा उठाए गए सभी सवालों का चुन-चुन कर जवाब दिया. उन्‍होंने कांग्रेस पर देश में अस्थिरता थोपने का आरोप भी लगाया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को लोकसभा में विपक्षी दलों पर जोरदार हमला बोला. उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस जनता से कट गई है और जो दल कांग्रेस के साथ हैं वे भी डूबने वाले हैं. मोदी लोकसभा में सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के दौरान परिचर्चा में हिस्सा लेते हुए विपक्ष के सवालों का जवाब दे रहे थे. प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र में 30 साल के बाद पूर्ण बहुमत की सरकार बनी है, लेकिन विपक्ष में शामिल दल सरकार के खिलाफ बहुमत जुटाने में विफल होने को लेकर आश्वस्त होने के बावजूद सरकार गिराने की कोशिश में जुटे हैं. मोदी ने शायरी के जरिए विपक्ष पर निशाना साधा और कहा- "मांझी ना रहबर ना कह में हवाएं .. है कश्ती भर जर्जर ये कैसा है सफर." उन्होंने कहा, "मेरे बारे में कहा गया कि प्रधानमंत्री को संसद में बोलने दिया जाए तो वह 15 मिनट भी नहीं बोल पाएंगे लेकिन मैं खड़ा भी हूं और चार साल के अपने काम के बल पर अड़ा भी हूं."


लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर बहस के UPDATES

- विपक्ष का अविश्‍वास प्रस्‍ताव गिरा, समर्थन में पड़े 126 वोट जबकि विरोध में 325 वोट पड़े


- अविश्वास प्रस्ताव पर अब कराई जा रही है वोटिंग

- अब TDP दे रही है अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब

- पिछले साल एक करोड़ लोगों को रोज़गार दिया, यह आंकड़े स्वतंत्र संस्था के हैं, सरकारी नहीं : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- EPF, NPF के आंकड़े नए रोज़गार के सबूत, 9 महीने में 50 लाख रोज़गार दिए : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- जब चंद्रबाबू नायडू NDA छोड़ रहे थे, मैंने उनसे कहा था, आप YSR के जाल में फंस रहे हो : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- आपने परिस्थितियों को समझे बिना आंध्र प्रदेश का विभाजन किया, इसलिए यह परेशानी आई : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- हम चौकीदार भी हैं, भागीदार भी हैं, लेकिन आपकी तरह सौदागर और ठेकेदार नहीं हैं : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- हम कामगार हैं, आपकी आंख में आंख डालने की हिम्मत नहीं जुटा सकते : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- कांग्रेस ने बार-बार देश को छला है, देश पर बार-बार अस्थिरता थोपी है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी


- आपको गालियां देनी हैं, तो मोदी मौजूद है, लेकिन देश के लिए मर-मिटने को तैयार सैनिकों को कोसना बंद कीजिए : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- कब तक ऐसी बचकाना हरकतें करते रहेंगे, जिन पर दूसरे मुल्क को भी बयान जारी करने पड़ें : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 


- आपको इतनी शक्ति मिले कि आप 2024 में फिर अविश्वास प्रस्ताव लाएं, यह मेरी शुभकामना है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- RBI, चुनाव आयोग, CJI - किसी भी संस्था पर इन्हें इसलिए विश्वास नहीं, क्योंकि इन्हें खुद पर विश्वास नहीं : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 


- देश-दुनिया की सभी शीर्ष संस्थाओं को हम पर विश्वास है, लेकिन जिन्हें खुद पर विश्वास नहीं, वे हम पर क्या विश्वास करेंगे : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- फसल बीमा के माध्यम से किसानों को विश्वास दिया, पहले सिर्फ दो मोबाइल बनाने वाली कंपनियां थीं, आज 120 कंपनियां हैं. 100 करोड़ LED बल्ब बिक चुके हैं, मुद्रा योजना से बेरोज़गारों की मदद हुई है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

 



- 32 करोड़ जन-धन बैंक खाते खोले, जिनमें 80,000 करोड़ रुपये जमा हुए : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- किसानों को यूरिया की कोई कमी नहीं रही है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- पिछले दो वर्ष में पांच करोड़ लोग गरीबी से बाहर आए : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- किसानों की आय 2022 तक दोगुनी कर देंगे : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कहा, ''हम 'सबका साथ, सबका विकास' के मंत्र पर काम करते रहे.''

- अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा : प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान लोकसभा में जमकर हंगामा

- लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं पर भरोसा ज़रूरी, सवा सौ करोड़ देशवासियों पर अविश्वास न करें : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- साथियों की परीक्षा लेने के लिए अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जाना चाहिए : लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- न मांझी, न रहबर, न हक में हवाएं, है कश्ती भी जर्जर, यह कैसा सफर है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- न संख्या है, न बहुमत, फिर भी अविश्वास प्रस्ताव लाया गया, देश देख रहा है, कैसी नकारात्मकता है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

- एक बड़े वर्ग ने अविश्वास प्रस्ताव का विरोध किया, कुछ माननीय सदस्यों ने प्रस्ताव का समर्थन किया : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- अपनी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब दे रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

- हमें रूस-अमेरिका नहीं, हिन्दू-मुस्लिम के बीच फैल रही नफरत मारेगी : नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद फारुक अब्दुल्ला

 

- मॉब लिंचिंग सिर्फ 1984 में नहीं हुई थी, वह 2002 में भी हुई : AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी

- AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, क्या आप 'कांग्रेस-मुक्त' भारत चाहते हैं, या 'मुस्लिम-दलित-मुक्त' भारत चाहते हैं...? आप आज यह वोट जीत सकते हैं, लेकिन देश की जनता आपको सबक ज़रूर सिखाएगी.

- कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने शुक्रवार को लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव संबंधी कार्यवाही में भाग नहीं लिया. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मौजूद कमलनाथ ने कहा, "मेरे लिए मध्य प्रदेश प्राथमिकता है... 38 साल में मैंने कई अविश्वास प्रस्ताव देखे हैं..."

- दिल्ली का चुना हुआ मुख्यमंत्री नौ दिन तक LG से मिलने के लिए इंतज़ार करता रहा, लेकिन नौ मिनट भी नहीं दिए गए, यह कैसा लोकतंत्र है... क्या दिल्ली को LG के डंडे से चलाओगे : आम आदमी पार्टी (AAP) सांसद भगवंत मान

- गृहमंत्री राजनाथ सिंह को अपने भाषण में राम याद आए, लेकिन शंबूक याद नहीं आए : TMC नेता दिनेश त्रिवेदी

- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दावा किया, "अगर वे मुकरना चाहते हैं, तो मुकर जाएं, लेकिन मैं अपने बयान पर कायम हूं, (पूर्व प्रधानमंत्री) डॉ. मनमोहन सिंह मेरे साथ थे, बैठक में आनंद शर्मा भी मौजूद थे, जब फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने वह बात मुझसे कही थी..."

- मुझे लगता है, राहुल गांधी राजनीति की असली पाठशाला में जा चुके हैं... जिस तरह उन्होंने मोदी जी को 'जादू की झप्पी' दी, वह झप्पी नहीं, झटका था : शिवसेना नेता संजय राउत

- मोदी सरकार के आने के बाद किसानों की आत्महत्याएं बढ़ी हैं : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- विज्ञापन ज़्यादा मिलने की वजह से मीडिया 'मोदी-मोदी' कर रहा है : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- वर्ष 2014 में स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों के आधार पर न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) का वादा किया गया था, मोदी सरकार ने अपने वादे से काफी कम MSP दिया : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- आंध्र की समस्याएं सुलझाने के लिए UPA सरकार ने एक्ट बनाया था : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- आंध्र प्रदेश के लोगों के हित में हम TDP के साथ : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- BJP की नीति है - फूट डालो, और शासन करो : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- आप (केंद्र सरकार) लोकपाल बिल पर संशोधन तक नहीं ला पाए : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- कांग्रेस ने लोकतंत्र को बचाने की कोशिश की : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- केंद्र सरकार के सिद्धांत बाबासाहेब अम्बेडकर के खिलाफ हैं : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- केंद्र सरकार समाज को तोड़ने की कोशिश कर रही है : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- हमने 6,10,000 गांवों को दिया था बिजली कनेक्शन, क्या यह उपलब्धि नहीं है : लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में बोल रहे हैं लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे

- खुशी है, सरकार ने 20 AIIMS खोलने की बात कही, दिसंबर तक हर घर में बिजली पहुंचाई जाएगी : केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान

- 10 लाख परिवारों, 50 करोड़ लोगों को हेल्थ इंश्योरेंस दिया गया : केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान

- 4.5 करोड़ गरीबों को रसोई गैस कनेक्शन दिया गया, जन-धन खातों से 32 करोड़ गरीबों की बैंक तक पहुंच बनी : केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान

- नरेंद्र मोदी सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है, CBI-ED का राजनैतिक दुरुपयोग हो रहा है : NCP नेता तारिक अनवर

- BJP में 'मार्गदर्शक मंडल' से मार्गदर्शन नहीं लिया जाता, पार्टी सांसदों को डराकर रखा जा रहा है : NCP नेता तारिक अनवर

- अगर यह 'रामराज्य' है, तो 'रावण राज' क्या होगा : NCP नेता तारिक अनवर

- राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता तारिक अनवर ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में कहा, केंद्र सरकार का नारा - सबका साथ, सबका विकास था, लेकिन न सबका साथ है, न सबका विकास है...

- मेरी हिम्मत को सराहो, मेरे हमराही बनो... मैंने इक शमा जलाई है हवाओं के खिलाफ... इस हकीकत को समझो : लोकसभा में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह



- लोकसभा में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा - हमने आंध्र प्रदेश का ध्यान रखा है... आंध्र प्रदेश की जो भी ज़रूरत होगी, हम देंगे...

- 30 साल से हो रही वन-रैंक-वन-पेंशन की मांग को हमने पूरा किया : लोकसभा में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह

- लोकसभा में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सवाल किया, क्या हम चाहते हैं कि पाकिस्तानी रूपी ज़हनियत हिन्दुस्तान में ज़िन्दा रहे...? हिन्दू-पाकिस्तान, हिन्दू-तालिबान की बात करते हैं, देश को कहां ले जाना चाहते हैं...?

- मॉब लिंचिंग की घटनाएं बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हैं और मैंने राज्य सरकारों से इसके खिलाफ सबसे कड़े कानून बनाने के लिए कहा है, लेकिन मैं इस मुद्दे को उठाने वाले लोगों को बताना चाहता हूं कि इससे भी बड़ा मॉब लिंचिंग का मामला 1984 में सिखों के खिलाफ नरसंहार के समय हुआ था : लोकसभा में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह

- जिस पर पूरे देश को विश्वास है, उसके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह

- केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, राहुल गांधी ने लोकसभा में 'चिपको आंदोलन' शुरू किया...

- यह समझ लीजिए कि सदन की गरिमा हमें ही रखनी है, कोई बाहर का आकर नहीं रखेगा... हमें संसद सदस्यों के रूप में अपनी गरिमा भी रखनी है... मैं चाहती हूं कि आप सब लोग प्रेम से रहो... मेरे दुश्मन नहीं हैं राहुल (गांधी) जी... बेटे जैसे ही लगते हैं : लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन

- लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, कांग्रेस ने लंबे समय तक सरकार चलाई है. आज जीडीपी ऊपर और महंगाई दर नीचे है. 10 साल हम कभी अविश्‍वास प्रस्‍ताव नहीं लाए. मनमोहन सिंह के खिलाफ कभी अविश्‍वास प्रस्‍ताव नहीं लाए. नोटबंदी के बाद यूपी में पहले चुनाव में जीत मिली.'

- वेल में जाकर बैठे टीडीपी के सांसद

- राजनाथ सिंह के भाषण के दौरान हंगामा, 4:30 बजे तक लोकसभा की कार्यवाही स्‍थगित

- सरकार के पास जनता का समर्थन है, इसलिए उसे चलने देना चाहिए... इसी वजह से हमने डॉ मनमोहन सिंह के कार्यकाल के दौरान कभी अविश्वास प्रस्ताव लाने की कोशिश नहीं की : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह

- BJP के पास स्पष्ट बहुमत है, और कई दलों को मिलकर अविश्वास प्रस्ताव लाना पड़ा : केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह

- निश्छल प्रेम की 'जादू की एक झप्पी' नफरत की आंधी को कैसे रोक सकती है, यह राहुल गांधी जी ने दिखाया... आखिर राहुल जी ने कांग्रेस की मोहब्बत का आईना मोदी जी को दिखा ही दिया : कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला

- BJP नेता तथा केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा, "BJP के सांसद झूठी जानकारी संसद के सामने रखकर उसे गुमराह करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के विरुद्ध विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लेकर आएगी..."

- BJP नेता तथा केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा, "उनका (कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का) व्यवहार बचकाना था... वह बड़े ज़रूर हो गए हैं, लेकिन दुर्भाग्यवश समझदार नहीं हुए हैं... यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस का अध्यक्ष इतनी गलत जानकारी रखता है, और अपरिपक्व है...

- BJP सांसद किरण खेर ने कहा, "राहुल गांधी को शर्म आनी चाहिए... वह हमारे मंत्रियों को बिना किसी सबूत के निशाना नहीं बना सकते... वह सदन में ड्रामा कर रहे थे, और मोदी जी को गले लगा रहे थे... मुझे लगता है, उनका कदम बॉलीवुड होगा... हमें उन्हें वहां भेजना ही होगा..."

- असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के पुत्र तथा कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने NDTV से कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेश में दुनियाभर के नेताओं से गले मिलते हैं, लेकिन जब एक भारतीय नागरिक (कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी) ने उनसे गले मिलने की कोशिश की, तो वह हिचकिचा क्यों रहे थे...?"

- अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव ने कहा, "कोई भी ऐसा शख्स नहीं है, जो उदास नहीं है... यहां तक कि BJP के लोग भी उदास हैं... उनका कहना है, हमारे करियर बर्बाद हो गए... PM ने जो भी वादे किए थे - 15 लाख रुपये, दो करोड़ रोज़गार, कितनों की लिस्ट बनाएं - उन्होंने एक भी वादा पूरा नहीं किया..."

 

bgpuqdkg


- अविश्‍वास प्रस्‍ताव के पक्ष में बोलते हुए मुलायम सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने एक काम नहीं किया और बीजेपी के लोग भी दुखी हैं. उन्‍होंने कहा कि खाद, बीज, सिंचाई सब महंगी हो गई. 

- किसान संपन्न होगा, तो देश संपन्न होगा : समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव

- शिरोमणि अकाली दल की नेता तथा केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान दिए गए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण को लेकर NDTV से बात करते हुए कहा, "पप्पू जी, अगर आप 'मुन्नाभाई' बनना चाहते हैं, तो मुंबई जाएं... 'पप्पी-झप्पी' की राजनीति पिक्चरों में होती है, पार्लियामेंट में नहीं... मैंने भाषण के बाद राहुल से पूछा कि आज कौन-सा नशा करके आए हो, वह मेरी बात नहीं समझे..."

- शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाए जाने पर कहा, "यह संसद है, 'मुन्नाभाई' का 'पप्पी-झप्पी एरिया' नहीं है..."

- BJD नेता कलिकेश सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण पर टिप्पणी करते हुए कहा, "राहुल कॉन्फिडेंट और एग्रेसिव दिखे... उन्होंने मोदी जी से स्पीच देना सीख लिया है... पहली बार देखा कि किसी ने हाउस में किसी को गले लगाया हो..."

- फ्रांस के साथ गोपनीयता का समझौता वर्ष 2008 में, यानी UPA सरकार के सत्ता में रहते हस्ताक्षरित हुआ था और समझौते के अंतर्गत राफेल डील भी शामिल थी : रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण

- हम सभी लोकसभा में राहुल गांधी के प्रचारित किए गए झूठों के गवाह हैं... उनके पास कैसा भी कोई सबूत नहीं है, सिर्फ नकारात्मक राजनैतिक प्रचार भर है, और उसकी कीमत वह अब तक लड़े हर चुनाव में चुकाते आ रहे हैं : केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी

- रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में बताया, "सीक्रेसी पैक्ट पर UPA के काल में कांग्रेस पार्टी के नेता तथा रक्षामंत्री एके एंटनी ने दस्तखत किए थे..."

- राहुल गांधी ने सदन में आंख भी मारी-

- लोकसभा में राहुल गांधी ने भाषण खत्‍म करने के बाद पीएम मोदी को दी 'जादू की झप्‍पी' 

- महिलाओं पर अत्‍याचार, गैंगरेप हो रहे हैं, लोगों का मारा-पीटा जा रहा है, इस पर पीएम मोदी चुप हैं: राहुल गांधी

- राहुल गांधी ने कहा कि लोगों को मारा पीटा जा रहा है और पीएम मोदी चुप हैं

- राहुल गांधी ने कहा, हिन्‍दुस्‍तान के इतिहास में पहली बार हुआ जब देश की महिलाओं की रक्षा नहीं हो पा रही और पीएम मोदी इस पर एक शब्‍द नहीं कहते हैं.

- लोकसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू, लोकसभा अध्‍यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि राहुल गांधी के बयान के बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण देंगी सफाई

- हंगामे के चलते लोकसभा की कार्यवाही 1.45 तक स्‍थगित 

- मैं उन्हें (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) मुस्कुराते हुए देख रहा हूं... लेकिन उनकी आंखों में घबराहट है, और वह मुझसे नज़रें नहीं मिला रहे हैं... मैं समझ सकता हूं... वह मेरी आंखों में नहीं देख सकते, मैं यह जानता हूं, क्योंकि वह सच्चे नहीं रहे हैं : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

- रक्षामंत्री ने कहा, फ्रांस के साथ राफेल सौदे को लेकर सीक्रेसी पैक्ट है... मैं खुद फ्रांस के राष्ट्रपति से मिला और उनसे पूछा, तो उन्होंने साफ-साफ बताया कि ऐसा कोई समझौता नहीं है : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

- हर व्यक्ति देखता और समझता है कि प्रधानमंत्री की मार्केटिंग में कितना पैसा खर्च होता है : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

- चौकीदार नहीं भागीदार हैं. बड़े कारोबारियों से PM के गहरे रिश्ते हैं. कारोबारियों को करोड़ों का फ़ायदा. मुझसे आंख नहीं मिला सकते पीएम: राहुल गांधी

- कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा, जहां भी जाते हैं रोज़गार की बात करते हैं. कभी कहते हैं पकौड़े बनाओ कभी कहते हैं दुकान खोलो. रोज़गार कौन लायेगा? हिन्दुस्तान के युवाओं ने प्रधानमंत्री जी पर भरोसा किया था. अपने भाषण में प्रधानमंत्री जी ने कहा था हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोज़गार दूंगा.
 
v1vcjo08

- कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा, सूरत के लोगों ने बताया कि प्रधानमंत्री जी ने सबसे जबरदस्त चोट हमें मारी है और आज हिन्दुस्तान में बेरोज़गारी 7 साल में सबसे ज्यादा है.

- राहुल गांधी ने कहा, जो छोटे-छोटे दुकानदारों के दिल में है, किसानों के दिल में है वो प्रधानमंत्री तक नहीं पहुंचता. कांग्रेस जीएसटी लेकर आयी थी और गुजरात के मुख्यमंत्री ने विरोध किया था. हम चाहते थे पेट्रोल और डीजल जीएसटी में हो. 

- राहुल गांधी ने कहा, हर बैंक में 15 लाख जुमला स्ट्राइक नंबर 1 है और पीएम के शब्द का मतलब होना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि 2 करोड़ रोजगार जुमला स्ट्राइक नंबर 2 है.

- TDP 21वीं सदी के राजनैतिक हथियार 'जुमला स्ट्राइक' का शिकार हुई है : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

- चीन 24 घंटे में 50,000 युवाओं का रोज़गार देता है, आप (सरकार) लोग 24 घंटे में 400 युवाओं को रोज़गार देते हो : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

- राकेश सिंह ने कहा कि देश के लगभग 415 जिलों के लगभग 4 लाख गांव खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं. आज प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में स्वच्छता को एक नया आयाम दिया गया है जो धीरे-धीरे भारतीयों के स्वाभिमान और अभिमान का हिस्सा बन रहा है. 

- राकेश सिंह नेे कहा, कांग्रेस ने इस देश को दागदार सरकार दी है और हमने साफ़ सुथरी दमदार सरकार दी है

- पिछले 60-70 वर्षो में गरीबी हटाओं के नारे तो खूब लगे लेकिन यह सच है कि गरीबी नहीं बल्कि गरीबों को ही समाज की मुख्य धारा से हटना पड़ा:

- BJP सांसद राकेश सिंह कहा, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने कहा था कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार अल्पसंख्यकों का है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिशा देते हुए कहा कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार गरीबों का है.
 
9anus60g

- हमें गर्व है कि भारत का लोकतंत्र परिपक्व व अनुकरणीय व्यवस्था के रूप में जाना जाता है: राकेश सिंह 

- अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान बोले तेलुगूदेशम पार्टी (TDP) नेता जयदेव गाला - "आप (प्रधानमंत्री) कुछ और ही गा रहे हैं, जिसे आंध्र प्रदेश की जनता ध्यान से देख रही है, और वे अगले चुनाव में इसका सटीक जवाब देंगे... आंध्र प्रदेश की जनता के साथ धोखा किया गया, तो राज्य में BJP साफ हो जाएगी, जिस तरह कांग्रेस हुई थी... प्रधानमंत्री जी, यह धमकी नहीं है, 'श्राप' है..."

-  प्रधानमंत्री ने आंध्र प्रदेश को धोखा दिया... वित्तमंत्री जी, आप सभी लोगों को हर बार बेवकूफ नहीं बना सकते : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान तेलुगूदेशम पार्टी (TDP) नेता जयदेव गाला

- अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा तथा वोटिंग में भाग लेने के सवाल पर शिवसेना के लोकसभा सांसद आनंदराव अदसुल ने कहा, "हम आज के संसदीय कार्यों का बायकॉट कर रहे हैं, और हमने आज हाज़िरी भी नहीं लगाई है..."
 
urdmf45o

- टीडीपी सांसद ने कहा कि आंध्रप्रदेश पर भारी आर्थिक बोझ है और हम 4 साल से संघर्ष कर रहे हैं. इस अनिश्चितता से निकलना चाहते हैं. तेलंगाना की तुलना में आंध्र में ज़्यादा मुश्किलें है. कांग्रेस ने क्रूर तरीक़े से आंध्र को बांटा है. आंध्र पर भारी-भरकम क़र्ज़ थोप दिया गया. मोदी सरकार ने आंध्र से वादा नहीं निभाया. उन्‍होंने कहा कि हम धमकी नहीं, श्राप दे रहे हैं. मोदी सरकार को सिर्फ़ अपने हित की चिंता है. 

- अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरू करते हुए तेलुगूदेशम पार्टी (TDP) नेता जयदेव गाला ने कहा कि ये एक धर्मयुद्ध है और कारणों से हम ये अविश्वास प्रस्ताव ले आए. आंध्रप्रदेश पर भारी आर्थिक बोझ है.4 साल से संघर्ष कर रहे हैं.

- अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरू करते हुए तेलुगूदेशम पार्टी (TDP) नेता जयदेव गाला ने कहा कि मोदी-शाह के राज में आंध्र प्रदेश की कहानी सिर्फ खोखले वादों की कहानी है. 


- सभी नेता तथा पार्टियां उन्हें आवंटित समय का ध्यान रखें : लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन
 
j6tpg5po

- बीजेडी भी अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के बाद करेगी सदन से वॉक आउट   

- शिवसेना वोटिंग में नहीं लेगी हिस्‍सा 

-नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ पेश किए गए अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा के बाद विपक्ष करेगा वॉकआउट, नंबर गेम से बचने के लिए विपक्ष की रणनीति : सूत्र

- अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर सरकार के पक्ष में वोट करेगी AIADMK 

- संसद भवन में शिवसेना की बैठक शुरू, सरकार की समर्थन देने या नहीं देने को लेकर पार्टी करेगी फैसला

- लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, विपक्षी सांसदों को बोलने के लिए आवंटित किया गया समय काफी कम है, जो देशभर की समस्याएं उठाने के लिए पर्याप्त नहीं है.

- पीएम मोदी ने अविश्वास प्रस्ताव को लेकर 10:30 बैठक बुलाई. बैठक में अमित शाह, राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, नितिन गड़करी और अनंत कुमार बैठक में मौजूद रहेंगे.

- बीजेपी की तरफ़ से गृह मंत्री राजनाथ सिंह, एमपी बीजेपी के अध्यक्ष राकेश सिंह, किसान मोर्चा अध्यक्ष और यूपी से सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त बोलेंगे_

टिप्पणियां
- शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि चर्चा 11 बजे से शुरू होगा. शिवसेना के स्टैंड पर पूरे देश की नजर है. हमारी पार्टी सही निर्णय लेगी. साढ़े दस से ग्यारह के बीच में पार्टी के मुखिया खुद पार्टी को अपने निर्णय के बारे में बताएंगे.
 
- पीएम मोदी ने शुक्रवार की सुबह ट्वीट किया, 'हमारे संसदीय लोकतंत्र में आज का दिन अहम है. मुझे यकीन है कि मेरे साथी सांसद सहयोगी इस अवसर पर रहेंगे और एक रचनात्मक, व्यापक और व्यवधान मुक्त बहस सुनिश्चित करेंगे. हम इसके लिए लोगों और हमारे संविधान के निर्माताओं को श्रेय देते हैं. भारत हमें काफी नजदीक से देख रहा होगा.'

 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement