NDTV Khabar

ट्रंप प्रशासन में सुस्त नहीं पड़ी है भारत-अमेरिकी संबंधों में प्रगति की रफ्तार : सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सोमवार को कहा कि ट्रंप प्रशासन के दौरान भारत-अमेरिकी संबंधों में प्रगति हो रही है जैसे कि वे ओबामा के राष्ट्रपति काल के दौरान थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ट्रंप प्रशासन में सुस्त नहीं पड़ी है भारत-अमेरिकी संबंधों में प्रगति की रफ्तार : सुषमा स्वराज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज

नई दिल्ली:

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सोमवार को कहा कि ट्रंप प्रशासन के दौरान भारत-अमेरिकी संबंधों में प्रगति हो रही है जैसे कि वे ओबामा के राष्ट्रपति काल के दौरान थे और इसकी गति धीमी नहीं पड़ी है. मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल के दौरान अपने मंत्रालय की प्रमुख उपलब्धियों पर एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सुषमा ने यह भी कहा कि एच1बी वीजा में प्रस्तावित बदलाव 'चिंता का विषय' है. उन्होंने कहा कि सरकार इस मुद्दे पर ट्रंप प्रशासन और अमेरिकी सांसदों के संपर्क में है और किसी भी संभावित नकारात्मक प्रभाव को लेकर 'सतर्क' है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अमेरिका दौरे के दौरान भी यह मुद्दा उठेगा, लेकिन उनकी यात्रा की तारीख की जानकारी नहीं दी. पीएम मोदी के इस महीने के अंत तक अमेरिका की यात्रा करने की उम्मीद है.

टिप्पणियां

जलवायु समझौते पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आरोपों को पूरी तरह खारिज करते हुए सुषमा ने कहा कि भारत ने किसी दबाव या धन के लालच में पेरिस समझौते पर हस्ताक्षर नहीं किए, बल्कि पर्यावरण की रक्षा के लिये प्रतिबद्धता के तौर पर समझौता किया. विदेश मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि भारत समझौते का हिस्सा बना रहेगा, भले ही अमेरिका इसमें रहे या नहीं रहे.


पेरिस समझौते से अमेरिका के हटने की घोषणा करते हुए ट्रंप ने निर्णयों के लिए कई कारण गिनाए थे. उन्होंने कहा था, 'विकसित देशों से अरबों-अरब डॉलर हासिल होने के कारण भारत ने इसमें हिस्सेदारी की.' ट्रंप के आरोपों को खारिज करते हुए सुषमा ने कहा कि यह वास्तविकता नहीं है.’ उन्होंने कहा कि भारत ने समझौते पर हस्ताक्षर भारतीय संस्कृति और मूल्यों के कारण किए. (इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement