NDTV Khabar

ट्रेन में अब आधार कार्ड रखने की जरूरत नहीं, रेलवे पहचान के लिए अपनाएगा यह तरीका...

भारतीय रेलवे ने यात्री के पहचान-पत्र के रूप में एम-आधार को स्वीकार किया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ट्रेन में अब आधार कार्ड रखने की जरूरत नहीं, रेलवे पहचान के लिए अपनाएगा यह तरीका...

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. आरक्षित वर्ग में यात्री की पहचान के लिए सबूत होगा एम-आधार
  2. मोबाइल एप 'एम-आधार' पर होता है आधार कार्ड
  3. ट्रेन में मोबाइल फोन पर दिखाना होगा आधार कार्ड
नई दिल्ली: अब ट्रेन में यात्रा करते हुए पहचान के लिए आधार कार्ड साथ रखने की जरूरत नहीं होगी. मोबाइल फोन पर मौजूद एम-आधार ही पहचान के लिए पर्याप्त होगा. रेलवे ने एम-आधार को पहचान के सबूत के रूप में स्वीकार कर लिया है.  

रेल मंत्रालय ने किसी भी आरक्षित वर्ग में यात्रा के उद्देश्य के लिए पहचान के निर्धारित सबूत के रूप में एम-आधार (मोबाइल एप पर आधार कार्ड) को अनुमति देने का निर्णय लिया है. मंत्रालय ने बुधवार को यह घोषणा की.

यह भी पढ़ें : वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा, आधार संवैधानिक परीक्षा पर खरा उतरेगा

रेलवे ने कहा है कि "यात्री द्वारा अपने मोबाइल पर पासवर्ड दर्ज करने के बाद दिखाए गए एम-आधार को भारतीय रेलवे के किसी भी आरक्षित वर्ग में यात्रा करने के लिए पहचान के प्रमाण के रूप में स्वीकार किया जाना चाहिए."

VIDEO : बिना आधार दाखिला नहीं

एम- आधार भारत की विशिष्ट पहचान प्राधिकरण द्वारा शुरू किया गया एक मोबाइल एप है जिस पर एक व्यक्ति अपना आधार कार्ड डाउनलोड कर सकता है. यह केवल मोबाइल नंबर पर ही किया जा सकता है जिसमें आधार जोड़ा गया है. आधार दिखाने के लिए, व्यक्ति को एप खोलना होगा और अपना पासवर्ड दर्ज करना होगा.
(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement