अरविंद केजरीवाल की नई सरकार में कोई नया मंत्री नहीं बनेगा, सभी पुराने चेहरे ही रहेंगे शामिल

अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की नई सरकार में कोई नया मंत्री नहीं बनाया जाएगा. सभी पुराने मंत्री ही लौटेंगे.

अरविंद केजरीवाल की नई सरकार में कोई नया मंत्री नहीं बनेगा, सभी पुराने चेहरे ही रहेंगे शामिल

Delhi govt formation: दिल्ली में कोई नया मंत्री नहीं बनेगा.

खास बातें

  • दिल्ली में कोई नया मंत्री नहीं बनेगा
  • दिल्ली सरकार में पुराने चेहरे ही रहेंगे
  • 16 फरवरी को शपथ लेंगे अरविंद केजरीवाल
नई दिल्ली:

दिल्ली में प्रचंड जीत के बाद  लगातार तीसरी बार सत्ता में आम आदमी पार्टी की वपासी हुई है. अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को रामलीला मैदान में शपथ ग्रहण करेंगे. दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) को 62 सीटें मिली हैं. वहीं, भारतीय जनता पार्टी (BJP) सिर्फ 8 सीटों पर सिमटकर रह गई. दूसरी तरफ कांग्रेस (Congress) का एक बार फिर सूपड़ा साफ हो गया और वह कोई भी सीट नहीं जीत सकी. NDTV को मिली जानकारी के मुताबिक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की नई सरकार में कोई नया मंत्री नहीं बनाया जाएगा. केजरीवाल सरकार में सभी पुराने मंत्री ही लौटेंगे.
 


अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को रामलीला मैदान में लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ

आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल का मानना है कि जिस सरकार के काम पर हम दोबारा जीतकर आए हैं ऐसे में उन्हीं लोगों को दोबारा मंत्री बनाया जाना चाहिए. हालांकि विभागों का बंटवारा बाद में किया जाएगा. केजरीवाल सरकार में पहले की तरह, मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेंद्र पाल गौतम मंत्री बनाए जाएंगे.

दिल्ली में BJP की हार के बाद मनोज तिवारी ने की इस्तीफे की पेशकश, पार्टी की तरफ से आया यह Reaction

AAP को मिले 53.57% वोट, BJP का मत प्रतिशत बढ़ा
आम आदमी पार्टी ने दिल्ली चुनाव में करीब 54 प्रतिशत मत हासिल किए हैं, जबकि BJP को 38.51 फीसदी वोट मिले हैं. वहीं, कांग्रेस ने चुनाव में सबसे खराब प्रदर्शन किया है और उसका मत प्रतिशत गिरकर चार फीसदी पर आ गया. चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार, 'आप' को दिल्ली विधानसभा चुनाव में 53.6 प्रतिशत वोट मिले हैं.

दिल्ली चुनाव परिणाम पर आया दिग्विजय सिंह का बयान, कहा- 'अब तो बिहार और बंगाल में भी...'

कांग्रेस के 63 प्रत्याशियों की जमानत जब्त
दिल्ली चुनाव में कांग्रेस ने अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन किया है. कांग्रेस के 63 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है. पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के नेतृत्व में दिल्ली में 15 साल तक शासन करने वाली कांग्रेस लगातार दूसरी बार विधानसभा चुनाव में एक भी सीट जीतने में नाकाम रही है. पार्टी के तीन उम्मीदवार- गांधी नगर से अरविंदर सिंह लवली, बादली से देवेंद्र यादव और कस्तूरबा नगर से अभिषेक दत्त- ही अपनी जमानत बचा पाए हैं. बता दें कि अगर किसी उम्मीदवार को निर्वाचन क्षेत्र में डाले गए कुल वैध मतों का छठा भाग नहीं मिलता है, तो उसकी जमानत जब्त हो जाती है. कांग्रेस के अधिकतर प्रत्याशियों को पांच प्रतिशत से भी कम वोट मिले हैं.

कैसे AAP की मेहनत और प्रशांत किशोर की रणनीति ने जिताई दिल्ली, पढ़ें इनसाइड स्टोरी

'दिल्ली वालों आपने गजब कर दिया, आई लव यू'
राष्ट्रीय राजधानी में 'आप' मुख्यालय में जश्न में डूबे समर्थकों और पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, 'दिल्ली वालों आपने गजब कर दिया. आई लव यू.' नई दिल्ली सीट से जीतने वाले केजरीवाल ने कहा, 'यह उन सभी और हर परिवार की जीत है, जिन्होंने मुझे अपना बेटा माना और इतना बड़ा जनादेश दिया. आज दिल्ली वालों ने एक नई राजनीति को जन्म दिया काम की राजनीति.' बाद में, केजरीवाल अपने परिवार और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ कनॉट प्लेस के पास प्रसिद्ध हनुमान मंदिर गए. 

VIDEO: 16 फरवरी को रामलीला मैदान में शपथ लेंगे अरविंद केजरीवाल

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com