महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद पर जारी खींचतान के बीच शिवसेना की चेतावनी- 'BJP हमें मजबूर नहीं करे कि हम...'

महाराष्ट्र (Maharashtra ) में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) के बीच खींचतान जारी है. इन सबके बीच शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने NDTV से बात करते हुए कहा कि राजनीति में कोई संत नहीं होता. BJP को उन्हें विकल्प तलाशने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए.

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद पर जारी खींचतान के बीच शिवसेना की चेतावनी- 'BJP हमें मजबूर नहीं करे कि हम...'

महाराष्ट्र (Maharashtra ) में सरकार बनाने को लेकर बीजेपी (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) के बीच खींचतान जारी है.

खास बातें

  • महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर खींचतान जारी
  • शिवसेना 50-50 फॉर्मूले को लेकर अड़ी
  • संजय राउत बोले- विकल्प तलाशने को मजबूर नहीं करे बीजेपी
नई दिल्ली:

बीजपी-शिवसेना गठबंधन (BJP-Shiv Sena Alliance) को बहुमत मिलने के बावजूद महाराष्ट्र (Maharashtra) में नई सरकार शपथ नहीं ले पा रही है. 24 अक्टूबर को आए नतीजों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ऐलान किया था कि देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) की अगुवाई में महाराष्ट्र विकास करेगा. हालांकि इन सबके बीच बीजेपी और शिवसेना में 50-50 फॉर्मूले को लेकर खींचतान जारी है. मुख्यमंत्री पद को लेकर खीचंतान इतनी तीखी हो गई है कि दोनों पार्टियों के नेताओं ने राज्यपाल से अलग-अलग मुलाकात की. ऐसे में तरह-तरह के कयास भी लग रहे हैं. इन सबके बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने NDTV से बात करते हुए बीजेपी को 'चेतावनी' दी है. संजय राउत (Sanjay Raut) ने अपने लंबे समय के सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) को चेतावनी देते हुए कहा कि उसे विकल्प तलाशने के लिए धकेलना नहीं चाहिए और 'राजनीति में कोई भी संत नहीं है.'

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर बीजेपी का बड़ा बयान, कहा- हमारे पास लगभग 122 विधायक, CM हमारा था और रहेगा

or049sfo

शिवसेना सांसद संजय राउत ने NDTV से की बातचीत.


शिवसेना नेता संजय राउत ने NDTV से बात करते हुए अपनी पार्टी को कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन से समर्थन लेने से सीधे तौर पर इनकार नहीं किया. हालांकि उन्होंने जोर देकर कहा कि शिवसेना गठबंधन की पवित्रता में विश्वास करती है. संजय राउत ने कहा, 'सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने स्पष्ट रूप से कहा है कि हम भाजपा की प्रतीक्षा करेंगे. लेकिन हमें अन्य विकल्पों की तलाश करने के लिए मजबूर न करें. हम ऐसा पाप नहीं करना चाहते.' उन्होंने कहा, 'हम संभावना (कांग्रेस-एनसीपी का समर्थन लेने) से इनकार नहीं कर सकते. राजनीति में कोई भी साधु-संत (संत) नहीं है, हालांकि सेना अभी भी अपने सिद्धांतों में विश्वास करती है.' शिवसेना सांसद ने कहा कि ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री बनाने की ये नई मांग नहीं है. संजय राउत ने कहा, 'वे (भाजपा) अपने वादे से नहीं मुकर सकते.' यह उनका हमारे साथ समझौता है. इसको समझाना चाहिए.

महाराष्ट्र में शिवसेना ने अब मोदी सरकार को घेरा, कहा- इतना सन्नाटा क्यों है भाई?

इससे पहले 'शोले' फिल्म में रहीम चाचा के डायलॉग '....इतना सन्नाटा क्यों है भाई?' का इस्तेमाल करते हुए महाराष्ट्र में भाजपा की गठबंधन सहयोगी शिवसेना ने देश में आर्थिक सुस्ती को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में लिखा, '...इतना सन्नाटा क्यों है भाई???.' 'शोले' फिल्म में यह डायलॉग रहीम चाचा (एके हंगल) का है जब गब्बर सिंह (अमजद खान) बाहर नौकरी के लिए जा रहे उनके बेटे की हत्या कर उसकी लाश एक घोड़े पर रखकर गांव में भेजता है. उस दौरान सभी गांव वाले एकदम चुप हैं और दृष्टिबाधित खान चाचा सबसे सवाल करते हैं '....इतना सन्नाटा क्यों है भाई?'

सत्ता बंटवारे के 'घमासान' के बीच भाजपा-शिवसेना निर्दलीयों को अपने पाले में करने में जुटीं

बता दें कि महाराष्ट्र की कुल 288 विधानसभा सीटों में भाजपा को 105 सीटों पर जीत मिली है. वहीं सहयोगी शिवसेना को 56 सीटों पर जीत मिली है. इस तरह बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को कुल 161 सीटें मिली हैं. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने 54 सीटें जीती हैं जबकि कांग्रेस के खाते में 43 सीटें गई हैं. वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 122, शिवसेना को 63, कांग्रेस को 42 और राकांपा को 41 सीटें मिली थी. उस चुनाव में भाजपा और शिवसेना अलग-अलग चुनाव लडे़ थे. हालांकि, बाद में शिवसेना भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार में शामिल हो गई थी.

VIDEO: सीएम पद के लिए बीजेपी और शिवसेना में खींचतान जारी

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com