NDTV Khabar

रेलवे को निजी हाथों में देने की कोई योजना नहीं : पीयूष गोयल

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि रेलवे को निजी हाथों में सौंपने की कोई योजना नहीं है. गोयल ने कहा कि ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है और भविष्य में भी ऐसा नहीं होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रेलवे को निजी हाथों में देने की कोई योजना नहीं : पीयूष गोयल

फाइल फोटो

नई दिल्ली: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि रेलवे को निजी हाथों में सौंपने की कोई योजना नहीं है. गोयल ने कहा कि ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है और भविष्य में भी ऐसा नहीं होगा. वह आज एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे जिसमें उन्होंने बीते चार वर्ष में अपने मंत्रालय की उपलब्धियां गिनाई. उन्होंने कहा, ‘‘ चलिए इसे एकदम स्पष्ट कर देते हैं कि रेलवे का अभी या कभी भी निजीकरण करने की कोई योजना नहीं है.’’ रेलवे, प्रोद्यौगिकी अद्यतन जैसे क्षेत्रों में विदेशी निवेश को आमंत्रित कर रहा है, लेकिन इसके कारण राष्ट्रीय परिवहन को निजी हाथों में सौंपने की चिंताएं भी उभर रही हैं. 

यह भी पढ़ें: रेलवे को लेकर सरकार के दावे ज़मीन पर कितने खरे?

टिप्पणियां
रेलवे संघों ने मंत्रालय से इस पर स्थिति साफ करने की मांग की थी. अपने मंत्रालय की उपलब्धियां गिनाते हुए गोयल ने कहा कि नई लाइन बिछाने की औसत रफ्तार 59 फीसदी बढ़ गई है. वर्ष 2009 से 2014 के बीच यह प्रतिदिन 4.1 किमी थी जो 2014-2018 के बीच बढ़कर प्रतिदिन 6.53 किमी हो गई. बुलेट ट्रेन परियोजना के बारे में गोयल ने कहा कि वह पटरी पर है. 

VIDEO: प्राइम टाइम : क्या पटरियों को दुरुस्त करने की वजह से ट्रेन लेट?
उन्होंने कहा, ‘‘ इस देश में किसी भी विकास परियोजना या नए विचारों के साथ कोई न कोई मुद्दे जुड़े होते हैं. लेकिन हमें उनके समाधान निकालकर आगे बढ़ना होगा.’’ उन्होंने दो मोबाइल एप्लिकेशन भी लांच की. इनमें से एक है रेल मदद और दूसरे मेन्यू ऑन रेल्स.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement