NDTV Khabar

अब राज्यसभा में कल पेश होगा तेलंगाना बिल, सरकार की संशोधनों पर जोर न देने की बीजेपी से अपील

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हैदराबाद:

तमाम विरोधों के बावजूद तेलंगाना बिल लोकसभा में पास हो गया, लेकिन बुधवार को इसे राज्यसबा में पेश नहीं किया जा सका। अब इस बिल को राज्यसभा में कल पेश किया जाएगा। कहा जा रहा है कि सरकार ने बीजेपी से संशोधनों पर जोर न देने की अपील की है। वहीं, बीजेपी का कहना है कि बड़े नेता बैठक के बाद कोई फैसला लेंगे। बुधवार को राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि जहां भारतीय जनपा पार्टी ने तेलंगाना गठन के बाद सीमांध्र के लिए 10 हजार करोड़ रुपये के विशेष  पैकेज की मांग की है और उस मांग पर अड़ गई है, वहीं, कांग्रेस पार्टी की प्रमुख सोनिया गांधी ने भी पीएम को चिट्ठी लिखकर मांग की है कि सीमांध्र को विशेष दर्जा दिया जाना चाहिए।

इससे पहले केंद्रीय मंत्री राजीव शुक्ला ने कहा था कि बिल आज ही पेश किया जाएगा। इससे पूर्व राज्यसभा शुरू होते ही तेलंगाना बिल को लेकर विरोध शुरू हो गया, जिसके चलते कार्यवाही को दो बार स्थगित करना पड़ा।

तेलंगाना विवाद के चलते आज राज्यसभा अधिकारी से धक्का-मुक्की की गई और नारेबाजी और हंगामे के बाद कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा। हालांकि धक्का-मुक्की करने वाले टीडीपी सांसद रमेश ने बाद में माफी मांगी।

उधर, लोकसभा में तेलंगाना बिल पास होने के तरीके पर नाराजगी जताते हुए केंद्रीय पर्यटन मंत्री चिरंजीवी ने राज्यसभा में कार्यवाही बाधित करने की धमकी दी। उन्होंने आरोप लगाया कि सीमांध्र के लोगों की भावनाओं का ख्याल नहीं रखा गया है। केंद्रीय मंत्री पल्लम राजू ने भी चिरंजीवी के विचार का समर्थन करते हुए कहा कि वह विधेयक को पारित करने के तरीके से दुखी हैं और वह अपनी पार्टी और सरकार में विरोध जताते रहेंगे।

इधर, अलग तेलंगाना बिल पर बीजेपी राज्यसभा में कुछ संशोधन प्रस्ताव ला सकती है। खबर यह भी है कि टीएमसी समेत कई विपक्षी दल इस बिल में कुछ बदलाव के पक्ष में हैं।

वहीं वाईएसआर कांग्रेस ने तेलंगाना के विरोध में आंध्र प्रदेश में बंद बुलाया है। इलाके में वाईएसआर कांग्रेस के असर को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement