NDTV Khabar

नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी और राजस्थान पुलिस के बीच है ये 'कनेक्शन'

नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी (Abhijit Banerjee) और एस्तेर डुफ्लो के साथ अपने जुड़ाव को लेकर राजस्थान पुलिस गौरवान्वित महसूस कर रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी और राजस्थान पुलिस के बीच है ये 'कनेक्शन'

नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी (Abhijit Banerjee)

जयपुर:

नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी (Abhijit Banerjee) और एस्तेर डुफ्लो के साथ अपने जुड़ाव को लेकर राजस्थान पुलिस गौरवान्वित महसूस कर रही है.1989 बैच की राजस्थान काडर की आईपीएस (भारतीय पुलिस सेवा) अधिकारी नीना सिंह ने अभिजीत बनर्जी और एस्तेर डुफ्लो के साथ दो शोध पत्रों का सह-लेखन किया है. एमआईटी के प्रोफेसर अभिजीत बनर्जी और एस्तेर डुफ्लो को गरीबी से निपटने के उनके अनुकरणीय कार्य के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. जिन शोध पत्रों का सह-लेखन नीना सिंह ने किया है, वह राजस्थान के संदर्भ में पुलिस सुधार और साक्ष्य-आधारित पुलिसिंग को लेकर है. यह अनुसंधान पहल राजस्थान के 150 से भी ज्यादा पुलिस थानों तक फैली हुई थी और इसे पूरा करने में चार साल लगे.  

मनमोहन सिंह ने अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र का नोबेल मिलने पर दी बधाई


टिप्पणियां

नीना सिंह की कई उपलब्धियां हैं. वह राजस्थान की पहली महिला एडीजी हैं, जिन्हें प्रेसिडेंट मेडल से सम्मानित किया गया है. हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद नीना सिंह भारत आकर आईपीएस अधिकारी बनीं. उनकी ईमानदार और बहादुर छवि के चलते उन्हें 'लेडी सिंघम' के नाम से भी जाना जाता है. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण मामलों को सुलझाया. जब वह राजस्थान महिला आयोग की सदस्य सचिव थीं, तब उन्होंने विशेष तौर पर महिला सुरक्षा के मुद्दों पर भी काम किया. उनके पति रोहित सिंह राजस्थान सरकार में एक वरिष्ठ आईएएस (भारतीय प्रशासनिक सेवा) अधिकारी हैं.  

Video:भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement