वैज्ञानिकों इमैनुएल कारपेंटर और जेनिफर डोडना को मिला रसायन का नोबेल पुरस्कार

रसायन विज्ञान के क्षेत्र में इस साल का नोबेल पुरस्कार ‘जीनोम एडिटिंग’ की पद्धति का विकास करने के लिये इमैनुएल चारपेंटियर और जेनीफर डॉडना को मिला.

वैज्ञानिकों इमैनुएल कारपेंटर और जेनिफर डोडना को मिला रसायन का नोबेल पुरस्कार

इमैनुएल कारपेंटर और जेनिफर डोडना को मिला रसायन का नोबेल पुरस्कार

स्टॉकहोम:

रसायन विज्ञान में वर्ष 2020 के लिए नोबेल पुरस्कार की घोषणा बुधवार को हुई. रसायन का नोबेल पुरस्कार फ्रांस की वैज्ञानिक इमैनुएल कारपेंटर और यूनाइटेड स्टेट्स की जेनिफर डोडना को मिला. दोनों को इस साल का नोबेल पुरस्कार ‘जीनोम एडिटिंग' की पद्धति का विकास करने के लिए मिला. रसायन विज्ञान के क्षेत्र में इमैनुएल कारपेंटर और जेनिफर डोडना ने CRISPR-Cas9 DNA "कैंची" के रूप में पहचाना जाने जाना वाला जीनोन एडिटिंग (gene-editing) तकनीक को विकसित किया.

डोनाल्ड ट्रंप को 2021 Noble Peace Prize के लिए किया गया नॉमिनेट, इस डील के चलते लिया गया नाम

नोबेल ज्यूरी ने कहा, "इनके प्रयोग से शोधकर्ता जानवरों, पौधों और सूक्ष्मजीवों के डीएनए को अत्यधिक उच्च परिशुद्धता के साथ बदल सकते हैं. इस तकनीक का जीवन विज्ञान पर एक क्रांतिकारी प्रभाव पड़ा है, नए कैंसर उपचारों में योगदान कर रहा है और विरासत में मिली बीमारियों के इलाज के सपने को सच कर सकता है."

स्टाकहोम में ‘स्वीडिश अकेडमी ऑफ साइंसेज' का पैनल बुधवार को विजेताओं की घोषणा की. नोबेल पुरस्कार के तहत स्वर्ण पदक, एक करोड़ स्वीडिश क्रोना (तकरीबन 8.20 करोड़ रूपये) की राशि दी जाती है. स्वीडिश क्रोना स्वीडन की मुद्रा है. यह पुरस्कार स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल के नाम पर दिया जाता है. ब्लैक होल संबंधी खोज के लिए तीन वैज्ञानिकों को इस साल का भौतिकी का नोबेल पुरस्कार मिला है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

IIT बॉम्बे ने किया डिजिटल दीक्षांत समारोह, छात्रों के वर्चुअल अवतारों को दी गई डिग्री और मेडल

बता दें कि रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने मंगलवार को कहा था कि ब्रिटेन के रोजर पेनरोसे को ब्लैकहोल संबंधी खोज के लिए तथा जर्मनी के रीनहार्ड गेंजेल और अमेरिका की एंड्रिया गेज को हमारी आकाशगंगा के केंद्र में ‘सुपरमैसिव कॉम्पैक्ट ऑबजेक्ट' की खोज के लिए यह प्रतिष्ठित पुरस्कार मिला है. नोबेल पुरस्कार समिति ने सोमवार को शरीर विज्ञान एवं औषधि क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार अमेरिकी वैज्ञानिकों- हार्वे जे आल्टर और चार्ल्स एम राइस तथा ब्रिटेन में जन्मे वैज्ञानिक माइकल हफटन को देने की घोषणा की थी. इसके अलावा साहित्य, शांति और अर्थशास्त्र जैसे क्षेत्रों में सराहनीय कार्य के लिए नोबेल पुरस्कार दिया जाता है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)