NDTV Khabar

मणिशंकर अय्यर का बड़ा बयान- 'गैर गांधी हो सकता है कांग्रेस अध्यक्ष, लेकिन...'

मणिशंकर अय्यर (Mani Shankar Aiyar) ने कहा कि एक 'गैर गांधी' पार्टी का प्रमुख हो सकता है लेकिन गांधी परिवार को संगठन के भीतर सक्रिय रहना होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मणिशंकर अय्यर का बड़ा बयान- 'गैर गांधी हो सकता है कांग्रेस अध्यक्ष, लेकिन...'

वरिष्ठ कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. वरिष्ठ कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर का बड़ा बयान
  2. कहा-'गैर गांधी' हो सकता है कांग्रेस पार्टी का प्रमुख
  3. 'गांधी परिवार को संगठन के भीतर रहना होगा सक्रिय'
नई दिल्ली:

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के कांग्रेस अध्यक्ष से इस्तीफे की पेशकश के बाद नए अध्यक्ष को लेकर कई कयासबाजी जारी है. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने 25 मई को हुई सीडब्ल्यूसी (CWC) की बैठक में हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश की थी. हालांकि, सीडब्ल्यूसी ने प्रस्ताव पारित कर इसे सर्वसम्मति से खारिज कर दिया था, लेकिन राहुल गांधी (Rahul Gandhi) अपने इस्तीफे पर अड़े हुए हैं. इस बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर (Mani Shankar Aiyar) ने रविवार को कहा कि एक 'गैर गांधी' पार्टी का प्रमुख हो सकता है लेकिन गांधी परिवार को संगठन के भीतर सक्रिय रहना होगा. उन्होंने दावा किया कि भाजपा का लक्ष्य 'गांधी मुक्त कांग्रेस' है ताकि फिर 'कांग्रेस मुक्त भारत' का उनका उद्देश्य पूरा हो सके.

यह भी पढ़ें: कांग्रेस को कैसे मिलेगी नई दिशा, मणिशंकर अय्यर ने सुझाए ये 3 फॉर्मूले


मणिशंकर अय्यर (Mani Shankar Aiyar) ने कहा कि अगर राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष बने रहते हैं तो यह सबसे अच्छा होगा, लेकिन साथ ही राहुल की इच्छाओं का भी सम्मान होना चाहिए. उन्होंने कहा, 'मैं आश्वस्त हूं कि पार्टी का अध्यक्ष कोई नेहरू-गांधी न हो तब भी हमारा अस्तित्व कायम रहेगा, बशर्ते नेहरू-गांधी परिवार पार्टी में सक्रिय रहे और ऐसे संकट का समाधान निकालने में मदद करे जहां गंभीर मतभेद उत्पन्न हों.'

यह भी पढ़ें: पूर्व कानून मंत्री वीरप्पा मोइली ने राहुल गांधी से की अपील, कहा- अध्यक्ष पद तब तक नहीं छोड़ सकते जब तक...

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद के लिए कोई अन्य विकल्प ढूंढने के लिए एक महीने का वक्त दिया है और इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के भीतर बातचीत जारी है जहां पार्टी में ज्यादातर लोग राहुल के पद पर बने रहने के पक्ष में हैं. हालांकि पूर्व केंद्रीय मंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि मीडिया को अटकलें लगाने की बजाए यह जानने के लिए 'अंतिम समय सीमा' का इंतजार करना चाहिए कि क्या कोई विकल्प मिल गया है या राहुल को कांग्रेस अध्यक्ष बने रहने के लिए मना लिया गया है.

यह भी पढ़ें: कांग्रेस को अगले दो महीनों में मिल जाएगा नया अध्यक्ष, गांधी परिवार का नहीं होगा सदस्य: सूत्र

अय्यर ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि यह व्यक्तित्व का मामला है. मैं जानता हूं कि भाजपा का लक्ष्य गांधी मुक्त कांग्रेस और नतीजन कांग्रेस मुक्त भारत है. मेरे विचार में हम उस सोच के जाल में फंसने वाले नहीं हैं कि उन्होंने कुछ ऐसा पता लगा लिया है जिसे खोज पाने में हम असमर्थ हैं.' संगठन के शीर्ष नेतृत्व में फेरबदल की जरूरत को लेकर पूछे गए सवाल पर 78 वर्षीय अय्यर ने कहा, 'अगर आप सिर ही कलम कर देंगे तो धड़ फड़फड़ाने लगेगा.' अय्यर ने पार्टी के इतिहास से ऐसे कई उदाहरण पेश किए जब नेहरू-गांधी परिवार से बाहर के लोग पार्टी के अध्यक्ष रहे, यू एन ढेबर से लेकर ब्रह्मानंद रेड्डी तक. उन्होंने कहा कि अब भी इस मॉडल को अपनाया जा सकता है.

टिप्पणियां

VIDEO: कांग्रेस को कैसे मिलेगी नई दिशा, मणिशंकर अय्यर ने सुझाए ये 3 फॉर्मूले​

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 13: गौतम गुलाटी को देखकर क्रेजी हुईं शहनाज गिल, सिद्धार्थ को भी गईं भूल- देखें Video

Advertisement