राजस्थान में चलने वाली शाही रेलगाड़ियों से मिलने वाला राजस्व गिरा

रेल मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, पैलेस ऑन व्हील्स और रॉयल राजस्थान ऑन व्हील्स का राजस्व क्रमश: 24.08 प्रतिशत और 63.18 प्रतिशत गिर गया.

राजस्थान में चलने वाली शाही रेलगाड़ियों से मिलने वाला राजस्व गिरा

जयपुर:

राजस्थान के लोकप्रिय स्थानों का भ्रमण कराने वाली शाही चमक दमक वाली पर्यटक ट्रेनों का राजस्व पिछले तीन साल में कम हुआ है. रेलवे की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी. रेल मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, पैलेस ऑन व्हील्स और रॉयल राजस्थान ऑन व्हील्स का राजस्व क्रमश: 24.08 प्रतिशत और 63.18 प्रतिशत गिर गया. इन ट्रेनों को अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए शुरू किया गया था. इन दोनों ट्रेनों का संचालन भारतीय रेलवे राजस्थान पर्यटन विकास निगम के सहयोग में करती है.

रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘भारतीय रेलवे की जिम्मेदारी परिचालन तक सीमित है. ट्रेन का बाजार बढ़ाना तथा लोगों को आकर्षित करना संबंधित पर्यटन निगमों की जिम्मेदारी होती है. राजस्व में गिरावट का एक कारण ट्रेनों के फेरे तथा यात्रियों की संख्या में कमी है.’’

रिपोर्ट के अनुसार, पैलेस ऑन व्हील्स में 2014-15 में यात्रियों की संख्या 2024 थी जो 2015-16 में 1739 और 2016-17 में 1373 पर आ गयी. इसी तरह रॉयल राजस्थान ऑन व्हील्स के यात्रियों की संख्या 2014-15 के 654 से कम होकर 2015-16 में 493 तथा 2016-17 में 237 पर आ गयी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com