इंसान की जान बचाने से ज्यादा बड़ी सेवा नहीं हो सकती : ओम बिरला

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने संसद भवन में राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित बच्चों से मुलाकात की

इंसान की जान बचाने से ज्यादा बड़ी सेवा नहीं हो सकती : ओम बिरला

संसद भवन परिसर में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के साथ बहादुर बच्चे.

नई दिल्ली:

बहादुर बच्चे अनुकरणीय साहस और असाधारण बहादुरी के अपने कार्यों के लिए हमारी शुभकामनाओं के पात्र हैं. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आज संसद भवन में राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित बच्चों से मुलाकात की और उनसे बातचीत की. इस साल देश के अलग-अलग हिस्सों से कुल 22 बच्चों को पुरस्कार दिया गया है, जिनमें एक मरणोपरांत पुरस्कार शामिल है.

Newsbeep

इस अवसर पर बिरला ने कहा कि, "ये बहादुर बच्चे अनुकरणीय साहस और असाधारण बहादुरी के अपने कार्यों के लिए हमारी शुभकामनाओं के पात्र हैं. उन्होंने अपना जीवन खतरे में डालकर लोगों की जान बचाई है और समाज की सेवा की है, और मुझे लगता है कि इंसान की जान बचाने से ज्यादा बड़ी सेवा नहीं हो सकती. ”

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि बच्चों के माता-पिता भी बधाई के पात्र हैं और ये बच्चे सभी के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं.