विशाल डडलानी के खिलाफ FIR दर्ज, धर्मगुरु तरुण सागर ने कहा - माफी की कोई जरूरत ही नहीं

विशाल डडलानी के खिलाफ FIR दर्ज, धर्मगुरु तरुण सागर ने कहा - माफी की कोई जरूरत ही नहीं

जैन मुनि तरुण सागर

खास बातें

  • जैन मुनि ने कहा 'विशाल डडलानी को माफ कर चुका हूं'
  • डडलानी के खिलाफ हरियाणा में एफआईआर दर्ज
  • डडलानी ने रविवार को ट्विटर पर राजनीतिक गतिविधियों से दूरी का ऐलान किया
नई दिल्ली:

जैन मुनि तरुण सागर पर की गई टिप्पणी के बाद विशाल डडलानी ने आप समेत सभी राजनीतिक गतिविधियों से दूर रहने का ऐलान कर दिया. वहीं बताया जा रहा है कि तरुण सागर ने विशाल को माफ कर दिया है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री और आप के अहम नेता सत्येंद्र जैन ने कहा है कि 'महाराज जी तो इस घटना को भूल गए हैं और माफ भी कर चुके हैं. उन्होंने कहा है कि यह बहुत ही छोटी सी बात है और इससे उन पर कोई असर नहीं पड़ता.' उधर डडलानी के खिलाफ हरियाणा में धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए एफआईआर दायर की गई है.

साथ ही जैन मुनि ने कहा कि 'मुझे नहीं लगता वह जैन धर्म या उनकी मान्यताओं के बारे में कुछ भी जानते हैं. जहां तक माफी की बात है तो उसका तो सवाल ही नहीं उठता क्योंकि मैं उनसे नाराज़ ही नहीं हूं' धर्मगुरु ने यह भी कहा कि वह 15 मार्च को दिल्ली विधानसभा को भी संबोधित करने वाले थे लेकिन आखिरी वक्त में कार्यक्रम रद्द हो गया. स्पीकर और सीएम ने मुझे न्यौता दिया था.

Newsbeep

ट्विटर पर माफी मांगी
शनिवार को डडलानी ने जैन धर्म के गुरू तरुण सागर का ट्विटर पर तब मज़ाक उड़ाया जब हरियाणा विधानसभा में उनके संबोधन को लेकर ख़बरें आ रही थीं. विशाल के इस ट्वीट की काफी निंदा हुई जिसके बाद उन्होंने इसे हटा दिया. हालांकि तब तक तीर कमान से निकल चुका था और विशाल ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे थे.
 


इसके बाद आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने भी इस ट्वीट को अफसोसजनक बताया. उन्होंने लिखा 'तरुण सागर जी महाराज एक सम्मानीय संत हैं. सिर्फ जैनियों के लिए ही नहीं, सबके लिए. जो उनका अपमान कर रहे हैं उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए.'
 
विशाल ने इसके बाद ट्विटर पर माफी मांगी और साथ ही सभी तरह के राजनीतिक संबंधों से नाता तोड़ने की घोषणा भी कर दी.
 
हालांकि इस ऐलान के बाद आम आदमी पार्टी पर आरोप लगाए जाने लगे कि विशाल को बाहर का रास्ता पार्टी ने दिखाया है. इस पर भी विशाल ने सफाई देते हुए ट्वीट किया कि वह उन्होंने अपनी मर्ज़ी से पार्टी को छोड़ा है और वह अभी भी इस आप को परिवार की तरह मानते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


 


(इनपुट एजेंसी से भी)