NDTV Khabar

बाज नहीं आ रहा चीन, नया नक्शा जारी करके डोकलाम को 'अपना' क्षेत्र बताया

चीन अपनी हरकत से बाज नहीं आ रहा है. सिक्किम सेक्टर में चल रहे तनाव के बीच एक नया नक्शा जारी करके डोकलाम को अपना हिस्सा बताया है.

1215 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाज नहीं आ रहा चीन, नया नक्शा जारी करके डोकलाम को 'अपना' क्षेत्र बताया

पिछले 4 दिनों से पूर्वोत्तर राज्य सिक्किम से सटे चीन के बॉर्डर पर तनाव है..... (प्रतीकात्मक चित्र)

खास बातें

  1. सिक्किम सेक्टर में चल रहे तनाव के बीच चीन ने एक नया नक्शा जारी किया है
  2. इससे पहले चीन ने भारतीय सेना द्वारा कथित घुसपैठ की तस्वीरें जारी की थी
  3. डोकलाम सिक्किम-भूटान और तिब्‍बत की तिहरी सीमा पर स्थित है
बीजिंग: चीन अपनी हरकत से बाज नहीं आ रहा है. सिक्किम सेक्टर में चल रहे तनाव के बीच एक नया नक्शा जारी करके डोकलाम को चीनी क्षेत्र का हिस्सा बताया है. इस नए मैप के जरिये चीन ने अपने उस दावे को मजबूती देने के लिए की कोशिश की है जिसमें उसने कहा था कि भारतीय सेना ने सिक्किम सेक्टर के विवादित डोकलाम क्षेत्र में घुसपैठ की है. इससे पहले चीन ने भारतीय सेना द्वारा कथित घुसपैठ की तस्वीरें जारी की थी. चीन इस क्षेत्र पर अपना दावा पेश करता रहा है.

चीन के विदेश मंत्रालय ने कल रात मानचित्र जारी किया, जिसमे नीले तीर के निशान भारतीय सैनिकों की ओर दिखाए गए हैं और इस तरह भारतीय सैनिकों को इस क्षेत्र में चीनी सेना द्वारा किए जा रहे सड़क निर्माण से रोकने के लिए कथित तौर पर घुसपैठ करते हुए दिखाया है.

नक्शे में कहा गया है कि डोकलाम इलाका चीन के मवेशियों का पारंपरिक चारागाह रहा है. चीन ने यह भी दावा किया है कि 1890 में ब्रिटिश-चीन संधि के अंतर्गत यह क्षेत्र दर्शाया गया है. दरअसल, डोकलाम विवादित क्षेत्र है और सिक्किम-भूटान और तिब्‍बत की तिहरी सीमा पर स्थित है. इस क्षेत्र के अधिकार को लेकर चीन और भूटान के बीच काफी लंबे अर्से से विवाद है.  

गौरतलब है कि पिछले 4 दिनों से पूर्वोत्तर राज्य सिक्किम से सटे चीन के बॉर्डर पर तनाव है. भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने है. दोनों देशों ने लगभग 3000 जवानों को तैनात कर रखा है. चीन ने भारतीय सैनिकों पर बॉर्डर में घुसने और सड़क निर्माण का काम रोकने का आरोप लगाया है.
 
उधर, भूटान भी चीन पर अपने सीमा क्षेत्र में सड़क का निर्माण कर दोनों देशों के बीच हुए समझौते का सीधा उल्लंघन करने का आरोप लगा चुका है. एक कड़े बयान में भूटान ने चीन से जोम्पेलरी स्थित भूटानी सेना के शिविर की तरफ डोकलाम इलाके में डोकोला से वाहनों की आवाजाही के योग्य सड़क का निर्माण रोकने को कहा. भूटान का कहना है कि इससे दोनों देशों के बीच सीमा तय करने की प्रक्रिया प्रभावित होती है.
(इनपुट भाषा से भी) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement