अब निजी कंपनियां चला सकेंगी पैसेंजर ट्रेनें, देश के 109 रूटों पर होगा संचालन

भारतीय रेलवे के 35 साल के लिए तय इस प्रोजेक्ट पर 30 हजार करोड़ रुपये का निवेश होने की संभावना

नई दिल्ली:

रेलवे ने पैसेंजर ट्रेन सर्विस ऑपरेट करने के लिए प्राइवेट पार्टी के लिए दरवाजे खोल दिए हैं. देश में 109 डेस्टिनेशन रूट पर प्राइवेट कंपनियां ट्रेन ऑपरेट कर पाएंगी. इसमें 30 हजार करोड़ रुपये के इनवेस्टमेंट की संभावना है. 

पैसेंजर ट्रेन संचालन के लिए पहली बार भारतीय रेलवे ने प्राइवेट इनवेस्टमेंट का रास्ता साफ कर दिया है. देश में 109 स्थानों के लिए चलाई जाने वालीं इन सभी ट्रेनों में कम से कम 16 कोच होंगे. इनकी अधिकतम रफ़्तार 160 किलोमीटर प्रति घंटा होगी. 

भारतीय रेलवे का यह प्रोजेक्ट 35 साल के लिए है. प्राइवेट पार्टी को एनर्जी और हौलेज चार्ज खपत के हिसाब से देना होगा. यह सभी ट्रेनें भारतीय रेलवे के ड्राइवर और गार्ड ऑपरेट करेंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com