NDTV Khabar

कट्टर दक्षिणपंथी अब हिन्दू आतंकवाद को नकार नहीं सकते : कमल हासन

तमिल साप्ताहिक समाचार पत्रिका में अपने नियमित कॉलम में कमल हासन ने लिखा, "दक्षिणपंथी अब हिन्दू आतंकवाद की चर्चा को चुनौती नहीं दे सकते, क्योंकि आतंक अब उनके घर में भी घुस चुका है..."

4252 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कट्टर दक्षिणपंथी अब हिन्दू आतंकवाद को नकार नहीं सकते : कमल हासन

कमल हासन ने कहा, "हिन्दू दक्षिणपंथी गुट अब हिंसा पर उतर आते हैं..."

राजनैतिक करियर शुरू करने की तैयारियों में ज़ोरशोर से जुटे जाने-माने फिल्म अभिनेता कमल हासन ने गुरुवार को कहा है कि आतंकवाद का असर दक्षिणपंथी गुटों पर भी हुआ है. उन्होंने कहा, "अतीत में हिन्दू, दक्षिणपंथी गुट हिंसा में शामिल नहीं होते थे... वे अपने विपक्षियों से बातचीत किया करते थे... लेकिन अब वे हिंसा पर उतर आते हैं..."

यह भी पढ़ें : अभिनेता कमल हासन ने एक बार फिर दिया राजनीति में आने का संकेत

तमिल साप्ताहिक समाचार पत्रिका में अपने नियमित कॉलम में कमल हासन ने लिखा, "दक्षिणपंथी अब हिन्दू आतंकवाद की चर्चा को चुनौती नहीं दे सकते, क्योंकि आतंक अब उनके घर में भी घुस चुका है... 'सत्यमेव जयते' से हिन्दुओं की आस्था खत्म हो रही है, और इसके स्थान पर अब वे 'जिसकी लाठी, उसकी भैंस' में विश्वास करने लगे हैं..."

यह भी पढ़ें : नोटबंदी का समर्थन करने पर कमल हासन ने कहा, 'माफी चाहता हूं...'

दरअसल, हाल ही में केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने कमल हासन से उन हालिया घटनाओं के बारे में विचार व्यक्त करने के लिए कहा था, जिन्हें विजयन ने स्वयं 'संप्रदायवाद' की संज्ञा देते हुए कहा था कि वे शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की तमिल द्रविड़ परम्परा को नष्ट कर रही हैं.

तमिलनाडु में सत्तासीन AIADMK पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगाने वाले 62-वर्षीय फिल्म अभिनेता ने सितंबर में पिनारायी विजयन से मुलाकात की थी, और BJP से संबंध नहीं जोड़ने के संकेत देते हुए कहा था, "भगवा मेरा रंग नहीं हो सकता..."

यह भी पढ़ें : कमल हासन के कड़वे बोल - निठल्ले नेताओं को सैलरी नहीं मिलनी चाहिए

BJP 'भगवा आतंकवाद' शब्द पर कड़ी आपत्ति जताती रही है, और इस शब्द का इस्तेमाल पिछली कांग्रेस-नीत सरकार ने करना शुरू किया था, और कट्टर दक्षिणपंथी गुटों पर हमलों के आरोप लगाए थे. BJP के वैचारिक संरक्षक माने जाने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, यानी RSS से जुड़े राकेश सिन्हा ने माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट पर लिखा, "कमल हासन को हिन्दी सभ्यता को ठेस पहुंचाने, उसे बदनाम करने तथा अपने राजनैतिक हित साधने की खातिर लोगों को भड़काने की कोशिश करने के लिए माफी मांगनी होगी..."

यह भी पढ़ें : कमल हासन ने कहा, 'सर्जरी का वक्त आ गया है', 7 नवंबर को करेंगे बड़ा खुलासा

कई महीनों से कमल हासन खुद की राजनैतिक पार्टी लॉन्च करने की बातें करते रहे हैं. पिछले सप्ताह उन्होंने अपने प्रशंसकों से 7 नवंबर को 'एक बड़ी घोषणा' के लिए तैयार रहने के लिए कहा था, जो उनका जन्मदिन है.

यह भी पढ़ें : 'बंदूक से मुंह बंद कर बहस में जीत, सबसे बुरी जीत है' : कमल हासन

कमल हासन ने पिछले माह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चेन्नई स्थित अपने आवास पर भोजन के लिए भी आमंत्रित किया था, और उन्होंने बताया कि उन्होंने दिल्ली के CM से चंदा एकत्र करने तथा 'युवा, नए चेहरों' को अपने राजनैतिक दल में शामिल करने को लेकर उनके विचार जाने.

VIDEO: क्या खिचड़ी पक रही है, भाई : जब चेन्नई में केजरीवाल से मिले थे कमल हासन



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement