भारत में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से संक्रमित मरीजों की तादाद 114 पहुंची

दिल्ली सरकार ने ब्रिटेन से आने वालों के लिए 7 दिन के संस्थागत आइसोलेशन और 7  दिन होम आइसोलेशन में रहना अनिवार्य किया गया है. यह व्यवस्था 31 जनवरी तक लागू रहेगी.

भारत में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से संक्रमित मरीजों की तादाद 114 पहुंची

ब्रिटेन में पहली बार कोरोना वायरस का यह खतरनाक स्ट्रेन सामने आया था

नई दिल्ली:

देश मे कोरोना वायरस के यूके स्ट्रेन (Britain Corona New Strain) से संक्रमित मरीजों की संख्या 114 हो गई है. शुक्रवार को  5 नए मामले सामने आए हैं. ब्रिटेन में पहली बार कोरोना वायरस का यह खतरनाक स्ट्रेन सामने आया था, जो काफी ज्यादा संक्रामक माना जाता है. भारत ने इसको लेकर थोड़े दिनों तक ब्रिटेन से आने-जाने वाली उड़ानों पर रोक भी लगा थी, जो अब हट चुकी है. भारत में 16 जनवरी से टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हो रहा है.

यह भी पढ़ें- Covid-19 वैक्सीनेशन में मदद के लिए वोटर्स का डेटा सरकार को देगा चुनाव आयोग


COVID के यूके स्ट्रेन (Covid Uk Strain) के लगभग रोजाना नए मामले देश में सामने आ रहे हैं. ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन सामने आने के बाद लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा तेजी से संक्रमण फैलाता है. ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया वेरिएंट मिलने के बाद 23 दिसंबर को भारत ने घोषणा की थी 31 दिसंबर तक दोनों देशों के बीच फ्लाइट्स की आवाजाही पर प्रतिबंध रहेगा. बाद में इसे बढ़ाकर 5 जनवरी तक कर दिया गया था. 10 जनवरी से उड़ानें दोबारा शुरू की गई हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कुछ समय पहले ब्रिटेन से आए हुए लोगों का कोविड-19 टेस्ट किया जा रहा था. पॉजिटिव निकलने वाले लोगों के सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग कराई जा रही है, ताकि यह देखा जा सके कि उनके अंदर कोरोनावायरस का नया स्ट्रेन है या फिर पुराना. ब्रिटेन से आए लोगों के लिए अलग गाइडलाइंस जारी की गई थीं.  दिल्ली सरकार ने ब्रिटेन से आने वालों के लिए 7 दिन के संस्थागत आइसोलेशन और 7  दिन होम आइसोलेशन में रहना अनिवार्य किया गया है. यह व्यवस्था 31 जनवरी तक लागू रहेगी.