NDTV Khabar

VIDEO: रथ यात्रा में पहुंची TMC सांसद नुसरत जहां बोलीं- दिल से मुस्लिम हूं, राजनीति और धर्म दोनों अलग-अलग हैं

टीएमसी की नवनिर्वाचित सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहां (Nusrat Jahan) आज इस्कॉन मंदिर पहुंची, जहां उन्होंने पूजा अर्चना की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
VIDEO: रथ यात्रा में पहुंची TMC सांसद नुसरत जहां बोलीं- दिल से मुस्लिम हूं, राजनीति और धर्म दोनों अलग-अलग हैं

जगन्नाथ यात्रा में पहुंची TMC सांसद नुसरत जहां

खास बातें

  1. जगन्नाथ यात्रा में पहुंची TMC सांसद नुसरत जहां
  2. बोलीं- दिल से मुस्लिम हूं, राजनीति और धर्म दोनों अलग-अलग हैं
  3. ममता बनर्जी भी साथ दिखीं
नई दिल्ली:

टीएमसी की नवनिर्वाचित सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहां (Nusrat Jahan) आज इस्कॉन मंदिर पहुंची, जहां उन्होंने पूजा अर्चना की. इस दौरान उनके साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) भी मौजूद थीं. नुसरत जहां  (Nusrat Jahan)  ने इसके बाद पत्रकारों से भी बातचीत की. उन्होंने कहा, "मैं धन्य हूं कि भगवान ने मुझे अवसर दिया. युवा भारत समावेशी भारत, धर्मनिरपेक्षता, मानवता के लिए खड़ा है. मुझे आमंत्रित करने के लिए मैं इस्कॉन की आभारी हूं. दीदी (ममता बनर्जी)  ईद के लिए आती हैं लेकिन उसमें कोई राजनीति नहीं होती. इस दौरान नुसरत जहां (Nusrat Jahan) ने फतवा जारी होने की खबरों पर कहा, "मैं उन बातों पर ध्यान नहीं देती, जो निराधार हैं. मैं अपना धर्म जानती हूं. मैं जन्म से मुसलमान हूं और अब भी मुसलमान हूं. यह सब विश्वास के बारे में है. आपको इसे अपने दिल से महसूस करना होगा और आपके दिमाग से नहीं." नुसरत जहां ने इस तरह फतवा जारी होने की खबरों पर अपना रिएक्शन दिया है. उनके इस कमेंट पर खूब रिएक्शन भी आने लगे हैं..

नुसरत जहां के खिलाफ जारी हुआ फतवा तो मिला दोस्त मिमी चक्रवर्ती का साथ, ट्वीट कह कही ये बात


इससे पहले देवबंद के मौलवियों के एक धड़े ने नुसरत जहां (Nusrat Jahan) के खिलाफ कथित तौर पर 'फतवा' भी जारी किया था. पश्चिम बंगाल के बसीरहाट की सांसद नुसरत जहां 25 जून को पहली बार संसद में सिंदूर लगाए हुई पहुंची थीं. और शपथ लेने के बाद उन्होंने 'वंदे मातरम' कहा था. नुसरत जहां ने व्यवसायी निखिल जैन से जून में तुर्की में शादी की और इसके कुछ दिनों बाद उन्होंने संसद में शपथ ली थी. इस संबंध में मौलवियों ने दावा किया था कि नुसरत जहां ने जैन धर्म में शादी कर इस्लाम का अपमान किया और उनके वस्त्र को 'गैर इस्लामिक' बताया था. जामिया शेख उल हिंद के मुफ्ती असद कासमी ने दावा किया था, 'मुस्लिमों की शादी मुस्लिमों में ही हो सकती है और वे केवल अल्लाह के सामने झुक सकते हैं, इस्लाम में वंदे मातरम, मंगलसूत्र और सिंदूर के लिए कोई जगह नहीं है और ये चीजें धर्म के खिलाफ हैं.'

सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहां के पहनावे पर विवाद, सवाल उठाने वालों को मिला करारा जवाब

टिप्पणियां


आलोचनाओं का जवाब देते हुए जहां ने शनिवार की रात को (Nusrat Jahan) ट्वीट किया था, "किसी भी धर्म के कट्टरपंथियों के बयानों पर ध्यान देना या प्रतिक्रिया देना केवल नफरत और हिंसा को बढ़ावा देना है और इतिहास इसका गवाह है. समग्र भारत का प्रतिनिधित्व करती हैं जो जाति, पंथ और मजहब के दायरे से परे है. मैं अब भी मुसलमान हूं और किसी को यह नहीं बताना चाहिए कि मैं क्या पहनूं... मजहब कपड़े से परे होता है.' बता दें कि केंद्र की सत्तारूढ़ भाजपा की महिला नेताओं सहित बड़ी संख्या में लोगों ने जहां का समर्थन किया था.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement