NDTV Khabar

ओडिशा : नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में पहली बार छात्र आंदोलन शुरू, यह है विद्यार्थियों की नाराजगी का कारण

कटक में लॉ यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में छात्रों ने अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ओडिशा : नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में पहली बार छात्र आंदोलन शुरू, यह है विद्यार्थियों की नाराजगी का कारण

ओडिशा के कटक में स्थित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में बुधवार को छात्रों ने अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन शुरू किया.

खास बातें

  1. प्रशासन पर आरोप- कैम्पस में रहने और काम करने की स्थितियां प्रतिकूल
  2. संस्थान की अकादमिक और परीक्षा नीतियां पूर्वाग्रह से ग्रस्त
  3. बिना उचित कारण बताए फीस में 30,000 रुपये की वृद्धि कर दी
नई दिल्ली:

ओडिशा के कटक (Cuttack) शहर में स्थित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (National Law University) में छात्रों ने आंदोलन शुरू कर दिया है.   यूनिवर्सिटी की विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में छात्रों ने आज से अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. स्टूडेंट काउंसिल का कहना है कि वर्षों से समस्याओं का समाधान न होने पर विद्यार्थियों को यूनिवर्सिटी प्रशासन के खिलाफ आंदोलन का बिगुल बजाना पड़ा. इस लॉ यूनिवर्सिटी के छात्र पहली बार कोई आंदोलन कर रहे हैं.   

छात्र-छात्राओं का आरोप है कि यूनिवर्सिटी कैम्पस में रहने और काम करने की परिस्थितियां काफी प्रतिकूल हैं और इन महत्वपूर्ण मुद्दों को अनदेखा किया जा रहा है. गर्ल्स हॉस्टल रहने लायक स्थिति में नहीं है.

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट काउंसिल ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि संस्था की स्थापना के बाद यहां एक विश्व स्तरीय पुस्तकालय बनाने का वादा किया गया था, लेकिन बुनियादी ढांचे को पूरा करने के अलावा कोई प्रगति नहीं हुई. कई ऐसी अकादमिक और परीक्षा नीतियां लागू हैं जो पूर्वाग्रह से ग्रस्त हैं.


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वकीलों को बेजुबानों की आवाज बनने की सलाह दी

nfcc43rc

स्टूडेंट काउंसिल ने कहा है कि यूनिवर्सिटी ने बिना उचित कारण बताए अगले बैच के लिए फीस में 30,000 रुपये की वृद्धि कर दी है. प्लेसमेंट के आंकड़ों को सुधारने के लिए भी कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाए गए हैं.

cpdir8oo

छात्रों ने कहा है कि उक्त मुद्दों को लगातार कई वर्षों से उठाया जा रहा है, लेकिन प्रशासन की ओर से समस्याओं के निदान के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है. उन्होंने कहा है कि विश्वविद्यालय के छात्र इस सुस्ती की निंदा करते हैं. छात्र-छात्राओं का यह उचित अधिकार है कि विश्वविद्यालय में ऐसा वातावरण मिले जो सीखने के लिए अनुकूल हो.

hge6eios

स्टूडेंट काउंसिल ने कहा है कि गंभीर समस्याएं और विश्वविद्यालय में बुनियादी सुविधाओं की कमी के हालात छात्रों को नियमित रूप से अध्ययन में बहुत मुश्किलें पैदा करते हैं.

p3j3pep8

छात्रों ने कहा है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन संस्थान के बुनियादी ढांचे को विकसित करने में भी शिथिलता बरत रहा है. खेल सुविधाएं निराशाजनक स्थिति में हैं. लॉ यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट काउंसिल ने कहा है कि वह शांतिपूर्ण विरोध के माध्यम से प्रशासन को अपने कर्तव्य के प्रति जागृत करने की कोशिश कर रही है.

रायपुर लॉ यूनिवर्सिटी के वीसी सुखपाल सिंह का इस्तीफा, कुलपति के खिलाफ हड़ताल पर थे छात्र

VIDEO : हिदायतुल्ला यूनिवर्सिटी में VC का इस्तीफा

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement