Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

मध्य प्रदेश: हनी ट्रैप में फंसा अधिकारी निलंबित, कई स्थानों से जुड़े मामले के तार

अधिकारियों ने बताया कि नगर निगम प्रशासन ने इस शहरी निकाय के अधीक्षण इंजीनियर हरभजन सिंह को वर्ष 1965 के मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियमों के तहत निलंबित किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्य प्रदेश: हनी ट्रैप में फंसा अधिकारी निलंबित, कई स्थानों से जुड़े मामले के तार

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले में प्राथमिकी दर्ज कराने वाले इंदौर नगर निगम के एक आला अधिकारी को अनैतिक कार्य में शामिल होने के आरोप में सोमवार को पद से निलम्बित कर दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि नगर निगम प्रशासन ने इस शहरी निकाय के अधीक्षण इंजीनियर हरभजन सिंह को वर्ष 1965 के मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियमों के तहत निलंबित किया. निलंबन आदेश में कहा गया कि "हनी ट्रैप मामले में सिंह की कथित संलिप्तता पहली नजर में अशोभनीय होने के साथ नैतिक पतन की परिचायक है. इस कारण उनकी पेशेवर कार्यप्रणाली पर भी प्रश्नचिन्ह लग गया है.

दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल पर नाबालिग लड़की ने लगाया रेप का आरोप, हुआ सस्पेंड


गौरतलब है कि पुलिस ने सिंह की शिकायत पर मामला दर्ज करके गुरुवार को हनी ट्रैप गिरोह का औपचारिक खुलासा किया था. गिरोह की पांच महिलाओं समेत छह सदस्यों को भोपाल और इंदौर से गिरफ्तार किया गया था. नगर निगम अफसर ने पुलिस को बताया कि गिरोह ने उनके कुछ आपत्तिजनक वीडियो क्लिप वायरल करने की धमकी देकर उनसे तीन करोड़ रुपये की मांग की थी. ये क्लिप खुफिया तरीके से तैयार किए गए थे.

NIA ने समझौता एक्सप्रेस विस्फोट के जांच अधिकारी सहित तीन को किया सस्पेंड, जानें वजह

इस बीच, पुलिस को जांच में कुछ नये सुराग मिलने के बाद इस मामले के तार कई स्थानों से जुड़ गए हैं. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) रुचिवर्धन मिश्रा ने संवाददाताओं को बताया कि पुलिस हिरासत में गिरोह की दो महिला आरोपियों से पूछताछ की गई है. जांच में हमें कुछ नये सुराग भी मिले हैं. इनके आधार पर हम भोपाल, राजगढ़, छतरपुर और अन्य स्थानों पर जांच को आगे बढ़ा रहे हैं. उन्होंने बताया कि जांच के दौरान यह भी पता चला है कि गिरोह की महिला आरोपियों ने मोहपाश की वारदात के लिए इंदौर के दो होटलों में ठहरने के दौरान फर्जी पहचान पत्र प्रस्तुत किये थे.

टिप्पणियां

सीएम योगी आदित्यनाथ ने की समीक्षा बैठक, तीन अधिकारी हुए सस्पेंड, कई का ट्रांस्फर

गौरतलब है कि गिरोह के छह गिरफ्तार आरोपियों में शामिल आरती दयाल (29) और मोनिका यादव (18) की पुलिस हिरासत अवधि एक स्थानीय अदालत ने कल रविवार को 28 सितंबर तक के लिये बढ़ा दी थी. शेष चार आरोपी न्यायिक हिरासत के तहत स्थानीय जेल में बंद हैं. 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली हिंसा : कौन है जाफराबाद में पुलिसकर्मी पर पिस्टल तानने वाला शाहरुख

Advertisement