NDTV Khabar

आय से अधिक संपत्ति के मामले में अधिकारी को एक साल की जेल

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की विशेष अदालत ने आय के ज्ञात स्रोत से 46.48 लाख रुपये की संपत्ति अधिक रखने के मामले में बी. योगेश्वर राव को मंगलवार को दोषी ठहराया था साथ ही उन पर 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आय से अधिक संपत्ति के मामले में अधिकारी को एक साल की जेल

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: हैदराबाद की स्थानीय अदालत ने डिप्टी चीफ इंस्पेक्टर ऑफ बॉयलर्स को आय के ज्ञात स्रोत से अधिक संपत्ति के 15 वर्ष पुराने मामले में एक साल की कारावास की सजा सुनाई है. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की विशेष अदालत ने आय के ज्ञात स्रोत से 46.48 लाख रुपये की संपत्ति अधिक रखने के मामले में बी. योगेश्वर राव को मंगलवार को दोषी ठहराया था साथ ही उन पर 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया. राव को भ्रष्टाचार निरोधक कानून की विभिन्न धाराओं के तहत दोषी ठहराया गया है.

पढ़ें :  भ्रष्टाचार के आरोप में महिला आईपीओ अधिकारी को एक साल का सश्रम कारावास

एसीबी (हैदराबाद) के पुलिस उपाधीक्षक जे अशोक कुमार ने बताया कि विशेष अदालत की न्यायाधीश के शैलजा ने अपने आदेश में कहा कि अधिकारी के आय के ज्ञात स्रोत से 46.48 लाख रुपये की अधिक संपत्ति को अपील की अवधि समाप्त होने के पश्चात राज्य को सौंप दिया जाए. उन्होंने कहा, 'दोषी अधिकारी को इस फैसले की तारीख से चार महीने के भीतर 46.48 लाख रुपए अदालत में जमा कराने होंगे जो बाद में सरकार को सौंप दिए जाएंगे और ऐसा नहीं करने पर सरकार उसकी संपत्ति को बेच कर उक्त राशि वसूल करने के कदम उठा सकती है.

टिप्पणियां
वीडियो :  शशिकला के भतीजे पर एफआईआर
राव के खिलाफ जब वर्ष 2002 में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी उस वक्त वह आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में डिप्टी चीफ इंस्पेक्टर ऑफ बॉयलर्स (फैक्ट्री विभाग) के पद पर तैनात थे.

इनपुट : भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement