महिलाओं को हिंसा से बचाने में मदद करेंगे वन-स्टॉप केंद्र- मेनका गांधी

अभी तक महिलाओं को हिंसा से बचाने के लिए 151 वन-स्टॉप केंद्र बनाये गये हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह के केंद्रों की संख्या 600 तक पहुंचाने की योजना है.

महिलाओं को हिंसा से बचाने में मदद करेंगे वन-स्टॉप केंद्र- मेनका गांधी

मेनका गांधी ने वन स्टॉप सेंटर्स में सुधार के लिए सांसदों से सुझाव मांगे हैं (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी जल्द सभी सांसदों को पत्र लिखकर आग्रह करेंगी कि वे अपने जिलों में बच्चों और महिलाओं के लिए काम कर रहे संस्थानों का नियमित दौरा करें और उनमें कामकाज सुधारने के लिए सरकार को अपनी प्रतिक्रिया दें.

यह भी पढ़ें: हर चौथी महिला घर में हिंसा की शिकार होती है हिन्दुस्तान में

लोकसभा में पूरक प्रश्नों का उत्तर देते हुए मंत्री ने कहा कि अभी तक महिलाओं को हिंसा से बचाने के लिए 151 वन-स्टॉप केंद्र बनाये गये हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह के केंद्रों की संख्या 600 तक पहुंचाने की योजना है. अभी तक 30 हजार महिलाओं ने इन केंद्रों पर संपर्क किया है जहां एक डॉक्टर, एक नर्स, एक वकील और एक पुलिस अधिकारी तैनात होते हैं.

VIDEO: महिलाओं के खिलाफ हिंसा के लिए फ़िल्में ज़िम्मेदार : मेनका गांधी मंत्री ने कहा कि इन पर निगरानी रखने के लिए वह जल्द सभी सांसदों को पत्र लिखकर आग्रह करेंगी कि वे महिलाओं और बच्चों की मदद करने वाली ऐसी संस्थाओं में नियमित जाएं और सरकार को अपने सुझाव दें ताकि इन संस्थाओं के कामकाज में सुधार लाया जा सके. मेनका ने इस तरह की संस्थाओं पर नजर रखने के लिए दिशा कमेटी की तरह समिति बनाये जाने के सांसदों के सुझाव को भी स्वागतयोग्य बताया.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com