NDTV Khabar

ऑनलाइन सट्टे में तय थी खेलने वाले की हार, धोखाधड़ी गिरोह का सरगना गिरफ्तार

अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) अमरेंद्र सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि मुंबई के लोअर परेल इलाके से पकड़े गये आरोपी की पहचान रमेश चौरसिया (50) के रूप में हुई है.

61 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ऑनलाइन सट्टे में तय थी खेलने वाले की हार, धोखाधड़ी गिरोह का सरगना गिरफ्तार

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

इंदौर: ऑनलाइन सट्टेबाजी की आड़ में धोखाधड़ी करने वाले अंतरप्रांतीय गिरोह के सरगना को पुलिस ने बुधवार को मुंबई से धर दबोचा. इसकी गिरफ्तारी पर 20,000 रुपये का ईनाम घोषित था. अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) अमरेंद्र सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि मुंबई के लोअर परेल इलाके से पकड़े गये आरोपी की पहचान रमेश चौरसिया (50) के रूप में हुई है. सिंह ने बताया कि चौरसिया के गिरोह के देश भर में फैले लोग ऑनलाइन सट्टे से लाखों रुपये कमाने का लालच देकर खासकर कारोबारियों को अपने जाल में फंसाते थे और सदस्यता के लिये उनसे तय रकम वसूल कर उनके नाम आईडी व पासवर्ड जारी करते थे. इसके आधार पर लोगों से कंप्‍यूटर और एंड्राइड ऐप्लिेकशन के जरिये मोबाइल पर भी ऑनलाइन सट्टा बुक कराया जाता था.

उन्होंने बताया, ''चौरसिया ने ऑनलाइन सट्टेबाजी के लिये विशेष सॉफ्टवेयर कुछ इस तरह विकसित कराया था कि इस गोरखधंधे में सट्टे का कोई भी नंबर बुक करने वाले व्यक्ति की हार पहले से तय होती थी. इस धोखेबाजी के चलते कई लोग अपने लाखों रुपये गंवा चुके हैं.'' एएसपी के मुताबिक चौरसिया ने पुलिस की पूछताछ में दावा किया कि ऑनलाइन सट्टे की धोखाधड़ी से उसकी सालाना 'कमाई' करीब 200 करोड़ रुपये की है.

उन्होंने बताया कि इस धोखाधड़ी को लेकर चौरसिया के खिलाफ मध्य प्रदेश के अलावा पंजाब, महाराष्ट्र, दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में भी मामले दर्ज हैं. ऑनलाइन सट्टेबाजी के मामले में मध्य प्रदेश पुलिस ने मुंबई से एक आरोपी और इंदौर से पांच आरोपियों को पिछले साल गिरफ्तार किया था. इससे चौरसिया के गिरोह की धोखाधड़ी का खुलासा हुआ था.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement