आतंकियों की संख्या पर मचे घमासान के बीच सामने आई 'ऑपरेशन बालाकोट' की पहली तस्वीर

पाकिस्तान के बालाकोट (Operation Balakot) में आतंकी ठिकाने पर भारतीय वायुसेना के हमले (IAF Air Strikes) के सबूत मांगे जा रहे हैं. पूछा जा रहा है कि इसमें कितने आतंकी मारे गए. अब कुछ सैटेलाइट तस्वीरें (Balakot Satellite Images) सामने आई हैं.

खास बातें

  • हमले से पहले और बाद की तस्वीरें आईं सामने
  • आतंकी शिविर को हुआ था नुकसान
  • तबाह हुआ था जैश-ए-मोहम्मद का कैंप
नई दिल्ली:

पाकिस्तान के बालाकोट (Operation Balakot) में आतंकी ठिकाने पर भारतीय वायुसेना के हमले (IAF Air Strikes) के सबूत मांगे जा रहे हैं. पूछा जा रहा है कि इसमें कितने आतंकी मारे गए. अब कुछ सैटेलाइट तस्वीरें (Balakot Satellite Images) सामने आई हैं. इनमें बालाकोट (Balakot) के आतंकवादी ठिकाने की हमले के पहले और हमले के बाद की तस्वीरें हैं. ये तस्वीरें सरकार या वायुसेना (Air Force) की ओर से नहीं आई हैं, बल्कि निजी सेटेलाइट से ली गईं तस्वीरें हैं जो न्यूज एजेंसी 'रायटर्स' से जारी की. इन तस्वीरों को ध्यान से देखिए. इनमें जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के आतंकवादी प्रशिक्षण केंद्र को हुआ नुकसान साफ दिखाई दे रहा है.

 

f33rnrv8

साल 2018 में ली गई आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंप की तस्वीर और एयर स्ट्राइक के बाद की तस्वीर.

अगर बम गिराए जाने के बाद भी कुछ इमारतें बची हैं तो इसकी वजह यह है कि जो 'स्पाइस टू थाउजेंड बम' गिराए गए वे इमारतों के अंदर घुस कर फटते हैं. छतों में बने सुराख यही गवाही दे रहे हैं कि बम गिरे हैं. ये बम बेहद असरदार होते हैं. वैसे वायुसेना ने भी सरकार को तस्वीरें (Balakot Satellite Images) सौंपी हैं, जिनमें स्पाइस 2000 ग्लाइड बम से पांच इमारतों पर बम गिराने का असर दिख रहा है.

 

ttq54o8

एयर स्ट्राइक के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का कैंप.

ये पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में बालाकोट के नजदीक बिसियान कस्बे के पास पहाड़ी पर स्थित हैं. रक्षा सूत्रों ने NDTV से कहा है कि 'स्पाइस टू थाउजेंड बम' निशाने पर लगे हैं. धमाकों के जो गड्डे दिखाए जा रहे हैं वे इन बमों से नहीं, बल्कि आतंकवादियों की ट्रेनिंग के दौरान आईईडी धमाकों से हुए हैं. स्पाइस 2000 बम से वैसे गड्डे नहीं बनते. इसके लिए सितंबर 2016 में पोकरण में इन बमों के इस्तेमाल की ये तस्वीर देखिए. इसमें छत पर सुराख है.

vflhjfvs

एयर स्ट्राइक के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का कैंप.

इस बीच सेना ने बयान में कहा है कि पाकिस्तान लगातार युद्ध विराम का उल्लंघन कर रहा है, जिसका जवाब दिया जा रहा है. सेना ने कहा है कि पाकिस्तान के उकसावे और हिमाकत का माकूल जवाब दिया जाएगा. वायुसेना ने कहा है कि सोशल मीडिया पर भारतीय मिग-21 बाइसन के हाथों पाकिस्तान के एफ-16 विमान को गिराने पर अफवाहें फैलाई जा रही हैं, जबकि 28 फरवरी को साफ कर दिया गया था कि एफ-16 को मिग-21 बाइसन ने गिराया था और यह एलओसी के पार गिरा था. इस बीच विदेश मंत्रालय ने कहा कि करतारपुर गलियारे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच 14 मार्च को बातचीत होगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: पाक को नहीं, राहुल और नायडू को चाहिए सबूत: अमित शाह​